AMERICA / धोखाधड़ी, घूसखोरी के मामले भारतवंशी को 10 महीने की सजा, अमेजन को इस तरह लगाया था चूना

Zoom News : Feb 14, 2022, 06:18 PM
अमेरिका में एक 28 वर्षीय भारतवंशी युवक को 10 महीने की जेल की सजा हुई है। अमेजन के इस पूर्व कर्मचारी को धोखाधड़ी और घूसखोरी के मामले में दोषी पाया गया, जिसके बाद कोर्ट ने उसे सजा सुनाई। बताया गया है कि कैलिफोर्निया नॉर्थरिज के रहने वाले रोहित कदिमीशेट्टी ने सितंबर 2021 में ही अपने ऊपर लगे आरोपों को कबूल लिया था। इसके बाद उसका मामला कोर्ट पहुंचा और अब जजों ने उसे सजा दी है। 

किस मामले में पाया गया दोषी?

अमेरिका के न्याय मंत्रालय के मुताबिक, रोहित को एक अंतरराष्ट्रीय घूसखोरी साजिश में शामिल पाया गया। इसके तहत वह और उसके पांच साथी घुसखोरी के जरिए अमेजन से गुप्त जानकारियां चुराते थे और सूचना के जरिए ई-कॉमर्स कंपनी के 'मार्केटप्लेस' प्लेटफॉर्म से छेड़छाड़ भी करते थे। अमेजन मार्केटप्लेस प्लेटफॉर्म मुख्य तौर पर अमेजन का ही हिस्सा है और इसके जरिए अमेजन थर्ड पार्टी के विक्रेताओं को नए और पुराने उत्पाद तय कीमत पर बेचने की सुविधा मुहैया कराता है। इसमें अमेजन के ऑफर भी लागू होते हैं। 

जज बोले- ये संगठित अपराध की तरह

वकील निक ब्राउन ने कहा कि रोहित कदिमीशेट्टी को 10 महीने की जेल की सजा सुनाई गई है। इसके अलावा उस पर 50 हजार डॉलर (करीब 38 लाख रुपये) का जुर्माना भी लगाया गया है। न्याय मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, रोहित ने अमेजन छोड़ने के बाद कंपनी के कुछ लोगों को घूस खिलाकर गुप्त जानकारियां चुराईं और अमेजन मार्केटप्लेस को अपने हिसाब से चलाया। 

रोहित को सजा सुनाने के दौरान अमेरिका की जिला अदालत के जज रिचर्ड जोन्स ने कहा, "आपके पास अमेजन से कोई जानकारी लेने का लाइसेंस नहीं था और आप एक अवैध गतिविधि में शामिल रहे। इसे आधुनिककाल का संगठित अपराध कहा जा सकता है।"

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER