विश्व / 'भगवान तेरी माया कहीं धूप कहीं छाया' | प्याज के संकट से जूझ रहा है बांग्लादेश, पीएम शेख हसीना ने भी खाना छोड़ा

AMAR UJALA : Nov 18, 2019, 10:14 AM

वर्ल्ड डेस्क | भारत के कई शहरों में प्याज लोगों को रुला रहा है। प्याज के दाम-60-70 रुपये के बीच पहुंच चुके हैं। इसी बीच पड़ोसी देश बांग्लादेश से भी इसकी कमी की खबरें आ रही हैं। यहां प्याज का कितना संकट है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री शेख हसीना ने मैन्यू से इसे हटा दिया है।

हसीना ने प्याज खाना बंद कर दिया है। इस संकट को देखते हुए वायु मार्ग से प्याज आयात किए जा रहे हैं। बांग्लादेश मे प्याज की कमी भारत द्वारा निर्यात पर लगाए गए प्रतिबंध की वजह से हुई है। भारत ने ज्यादा बारिश की वजह से प्याज की फसल खराब होने के बाद सितंबर के आखिरी महीने में प्याज के निर्यात पर बैन लगा दिया था।

प्रधानमंत्री हसीना के उप प्रेस सचिव हसन जाहिद तुषार ने रविवार को बताया कि वायु मार्ग से प्याज आयात किए जा रहे हैं। हसीना ने प्याज खाना बंद कर दिया है। शनिवार को प्रधानमंत्री आवास में बने किसी भी व्यंजन में प्याज का इस्तेमाल नहीं हो सका। प्याज की कमी के कारण इसके दाम आसमान छू रहे हैं।

बांग्लादेश में आमतौर पर 30 टका (लगभग 26 रुपये) प्रति किलो के हिसाब से मिलने वाला प्याज अब 260 टका (करीब 220 रुपए) के दाम पर मिल रहा है। स्थानीय मीडिया के अनुसार म्यांमार, तुर्की, चीन और मिस्र से प्याज से भरे जहाज रविवार को चटगांव स्थित बंदरगाह पहुंचे हैं। सरकारी एजेंसी भी ढाका में लोगों को 45 टका प्रति किलोग्राम में प्याज मुहैया करवा रही है। शहर में प्याज के लिए लंबी-लंबी कतारें दिखाए देती हैं।