दिल्ली चुनाव / राजधानी में नामांकन प्रक्रिया आज से, किसी को मिला गैस सलेंडर तो किसी के हाथ आया हाथी

AMAR UJALA : Jan 14, 2020, 07:54 AM

नई दिल्ली | दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। 21 जनवरी नामांकन पत्र भरने की आखिरी तारीख है। इसके बाद नामांकन पत्रों की जांच होगी और 24 जनवरी तक नामांकन पत्र वापस लेने की आखिरी तारीख है। सोमवार को दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से सभी 70 विधानसभा सीटों के लिए निर्वाचन अधिकारियों को तैनात कर दिया है। मंगलवार सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक नामांकन पत्र दाखिल किए जाएंगे। 

8 फरवरी को होने वाले मतदान के लिए 2,689 जगहों पर 13,750 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे। दिल्ली में 465 केंद्रों को अति संवेदनशील घोषित किया गया है। वहीं करीब 2744  मतदान केंद्रों को संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है। अतिसंवेदनशील बूथों पर सुरक्षा बलों की विशेष तैनाती होगी। नामांकन के दौरान सख्ती बरतते हुए अनजान लोगों पर पैनी नजर रखी जाएगी। चुनाव कार्यालय पूरी नामांकन प्रक्रिया की वीडियोग्राफी करवाएगा। वहीं प्रत्याशियों के साथ आने वाले भीड़ आरओ दफ्तर से करीब 100 मीटर की दूरी होगी। सभी रिटर्निंग अधिकारियों के कार्यालय में सीसीटीवी लगाए जा चुके हैं। दिल्ली पुलिस की तरफ से हर दफ्तर के नजदीक घेरा बनाया जा रहा है। चुनाव आचार संहिता के दायरे में रहते हुए प्रत्याशी अपना नामांकन करेगा।

मुख्य निर्वाचन कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारी राजेश पाठक ने बताया कि 14 से 21 जनवरी तक नामांकन प्रक्रिया जारी रहेगी। इस बीच सिर्फ एक दिन का अवकाश है। वहीं, 23 जनवरी तक स्क्रूटनी होनी है। पूरी प्रक्रिया को शांतिपूर्ण तरीके से पूरा कराने के लिए दिल्ली पुलिस और अतिरिक्त सुरक्षा बलों को भी तैनात किया जाना है। नामांकन केंद्र से करीब 100 मीटर पहले ही समर्थकों को रोक लिया जाएगा। केंद्र के आसपास किसी भी बाहरी व्यक्ति रहना प्रतिबंधित रहेगा।

 पिछले चुनाव के नामांकन पर एक नजर

. 1413 नामांकन पत्र हुए थे दाखिल। 

. 231 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र हुए निरस्त।

. 20 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र लिया था वापस।

. 673 उम्मीदवारों ने चुनाव में आजमाई थी किस्मत।

किसी को मिला सेब तो किसी को प्रेशर कुकर

दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों को चुनाव चिह्न मिलने का सिलसिला भी शुरू हो चुका है। सभी विधानसभा सीट पर एक ही सिंबल की मांग को लेकर कुछ राजनीतिक दलों ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय में शिकायत दी थी। इसकी जांच के बाद कार्यालय की ओर से पंजीकृत गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों को चुनाव चिह्न जारी करना शुरू कर दिया है। 

दिल्ली की सभी विधानसभा सीटों में ये मान्य होंगे। रिजर्वेशन एंड एलॉटमेंट ऑर्डर 1968 के पैरा 10 के तहत राष्ट्रीय जन मंच (दल) को छड़ी, लोक निर्माण दल को दूरबीन, अमन समाज पार्टी को हेलमेट, नेशनलिस्ट तृणमूल कांग्रेस को सेब, ऑल इंडिया जनादेश पार्टी को आड़ी और लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी को  प्रेशर कुकर चुनाव चिह्न मिला है। इसके अलावा वसुधैव कुटुंब पार्टी को द्वारका, रिठाला, किराड़ी और उत्तम नगर के लिए लेटर बॉक्स चुनाव चिह्न आवंटित किया गया है। 

किसी को मिला सेब तो किसी को प्रेशर कुकर

दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों को चुनाव चिह्न मिलने का सिलसिला भी शुरू हो चुका है। सभी विधानसभा सीट पर एक ही सिंबल की मांग को लेकर कुछ राजनीतिक दलों ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय में शिकायत दी थी। इसकी जांच के बाद कार्यालय की ओर से पंजीकृत गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों को चुनाव चिह्न जारी करना शुरू कर दिया है। 

दिल्ली की सभी विधानसभा सीटों में ये मान्य होंगे। रिजर्वेशन एंड एलॉटमेंट ऑर्डर 1968 के पैरा 10 के तहत राष्ट्रीय जन मंच (दल) को छड़ी, लोक निर्माण दल को दूरबीन, अमन समाज पार्टी को हेलमेट, नेशनलिस्ट तृणमूल कांग्रेस को सेब, ऑल इंडिया जनादेश पार्टी को आड़ी और लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी को  प्रेशर कुकर चुनाव चिह्न मिला है। इसके अलावा वसुधैव कुटुंब पार्टी को द्वारका, रिठाला, किराड़ी और उत्तम नगर के लिए लेटर बॉक्स चुनाव चिह्न आवंटित किया गया है।