Asaduddin Owaisi / 'RJD खुद नीचे स्तर की राजनीति कर रही', असदुद्दीन ओवैसी तेजस्वी यादव के बयान पर भड़के, कही ये बातें

Zoom News : Oct 30, 2022, 05:01 PM
Asaduddin Owaisi: बिहार की गोपालगंज और मोकामा सीट पर उपचुनाव को लेकर प्रचार-प्रसार जोर-शोर से चल रहा है। वोटिंग 3 नवंबर को होनी है। इसे लेकर शुक्रवार को आरजेडी नेता और बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव गोपालगंज पहुंचे। यहां उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए बीजेपी पर हमला बोलने के साथ ही AIMIM को भी निशाने पर लिया। ओवैसी की AIMIM पार्टी पर हमला बोलते हुए तेजस्वी ने कहा कि यह बीजेपी की बी पार्टी है। 

'नीतीश कुमार ने आरजेडी को गाली दी, फिर...'

तेजस्वी यादव के इस बयान पर पलटवार करते हुए AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, "नीतीश कुमार कितनी बार बीजेपी के साथ मुख्यमंत्री बने, लेकिन आपने (RJD) उन्हें गले लगा लिया। नीतीश कुमार ने आरजेडी को गाली दी, फिर बीजेपी में गए और वापस आरजेडी को गले लगा दिया, तो आरजेडी तो खुद नीचे स्तर की राजनीति कर रही है।" 

गोपालगंज उपचुनाव के लिए 3 नवंबर को वोटिंग

गोपालगंज विधानसभा उपचुनाव के लिए 3 नवंबर को वोटिंग होगी और 6 नवंबर को नतीजे आएंगे। इस उपचुनाव में ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम (AIMIM) ने भी अपने उम्मीदवार के रूप में अब्दुल सलाम को उतारा है। खबर यह भी है कि ओवैसी के छोटे भाई और AIMIM विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी भी जल्द ही चुनाव प्रचार करने के लिए गोपालगंज आ सकते हैं। 

गोपालगंज विधानसभा उपचुनाव से AIMIM को उम्मीदें

गौरतलब है कि गोपालगंज में सीधा मुकाबला बीजेपी और आरजेडी के बीच माना जा रहा है। बीजेपी से कुसुम देवी प्रत्याशी हैं, जबकि आरजेडी ने मोहन गुप्ता को उम्मीदवार बनाया है। वहीं, इस उपचुनाव से इस बार AIMIM को भी काफी उम्मीदें हैं। बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में AIMIM  ने अपने प्रदर्शन से सबको चौंका दिया था। सीमांचल के मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में अपना झंडा गाड़ा था। कहा ये भी जाता है कि सीमांचल के नतीजे ने ही आरजेडी को सत्ता से दूर किया था। 

पिछले चार चुनाव से बीजेपी ने अपना झंडा बुलंद रखा है

गोपालगंज में AIMIM के उम्मीदवार उताने के पीछ की बड़ी वजह यहां की मुस्लिम आबादी है। गोपालगंज में सबसे अधिक मुस्लिम वोटर हैं, जिनकी संख्या करीब 65 हजार है। वहीं, गोपालगंज में पिछले चार चुनाव से बीजेपी ने अपना झंडा बुलंद रखा है। बीजेपी के सुभाष सिंह यहां से लगातार जीतते रहे हैं। उनके निधन के बाद ही ये सीट खाली हुई और उपचुनाव हो रहा है। बीजेपी ने उनकी पत्नी को उम्मीदवार बनाया है। यहां आरजेडी ने अपना प्रत्याशी महागठबंधन की ओर से उतारा है।

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER