देश / सुबह परिवार ने अंतिम संस्कार किया, शाम को जिंदा लौटा व्यक्ति, जानिए क्या है पूरा मामला

Zoom News : Dec 12, 2020, 05:40 PM
MP: क्या होगा यदि कोई परिवार अपने परिवार का अंतिम संस्कार करता है, लेकिन शाम तक उनका परिवार लौट आता है? जी हां, ऐसा ही एक हैरतअंगेज मामला मध्य प्रदेश के श्योपुर से सामने आया। जहां एक परिवार ने अपने परिवार का अंतिम संस्कार किया है लेकिन वह व्यक्ति जीवित वापस लौट आया है। जिसे देखकर पुलिस और परिवार के होश उड़ गए। जब पूरा मामला खुला तो हर कोई हैरान रह गया। 

दरअसल, यह मामला बड़ौदा के माताजी मोहल्ले का है। पुलिस को गुरुवार शाम 7 बजे पुल के श्मशान घाट के पास एक अज्ञात व्यक्ति का शव मिला था। पुलिस ने मृतक की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल कर दी, ताकि उसकी पहचान हो सके। शुक्रवार की सुबह, वायरल तस्वीर को देखकर, बड़ौदा के बंटी शर्मा ने मृतक को अपने भाई दिलीप शुक्ला को 4-5 दिनों के लिए गायब कर दिया। बंटी शर्मा ने कहा कि दिलीप मानसिक रूप से कमजोर है।

इसके बाद बंटी शर्मा ने शव को पोस्टमार्टम के बाद अपने कब्जे में ले लिया। पुलिस ने पंचनामा सहित कागजी कार्रवाई भी पूरी की। दिलीप शुक्ला को मृत घोषित करने के बाद, उनके परिवार ने शुक्रवार सुबह उनका विधिवत अंतिम संस्कार किया। लेकिन रात 8 बजे दिलीप घर लौटा, जिसे देखकर न सिर्फ पड़ोसी बल्कि परिवार वाले भी चौंक गए।

अंतिम संस्कार के बाद अपने भाई को जिंदा देखकर घर में मातम मातम में बदल गया। लेकिन परिवार के सभी सदस्य अब अज्ञात व्यक्ति की पहचान करके और उसका अंतिम संस्कार करके पुलिस की कार्रवाई के डर से कैमरे का सामना कर रहे हैं। दिलीप के परिवार वालों का कहना है कि फोटो और हुलिया के आधार पर उन्हें पहचानना एक गलती रही है। वहीं, पुलिस अपनी कार्रवाई को सही ठहरा रही है। इसके अलावा, एक अज्ञात शव की तस्वीर की मदद से, उसने एक नई पहचान की तलाश शुरू कर दी।

फिलहाल अज्ञात व्यक्ति का परिवार उसकी पहचान करने के लिए आ रहा है। बताया जा रहा है कि जिस अज्ञात व्यक्ति का शव मिला है, वह भीला भीम लाटी गांव का रामकुमार आदिवासी था। उनका परिवार शुक्रवार शाम शहर कोतवाली पहुंच जाएगा। पुलिस के अनुसार, उन्हें अब राख दी जाएगी। साथ ही इस विचित्र घटना की चर्चा दूर-दूर तक हो रही है कि अज्ञात शव की पहचान करने में इतनी बड़ी चूक कैसे हो गई।


SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER