जानिए इससे जुड़ी सभी बातें / अगले 3 महीने तक लोन की EMI पर छूट पाने के लिए क्या-क्या करना होगा?

News18 : May 22, 2020, 02:59 PM
नई दिल्ली। कोरोना के इस संकट में RBI गवर्नर शक्तिकांत दास (Reserve Bank of India Shaktikant Das) ने शुक्रवार को लोन मोरेटोरियम की अवधि को 3 महीने और बढ़ा दिया है। यानी इसका मतलब यह हुआ कि अगर आपने होम लोन या आटो लोन लिया है तो आपको अपनी ईएमआई रोकने के लिए 3 महीने की और मोहलत मिल गई है। इससे पहले भी मार्च से मई तक यानी 3 महीने की मोहलत मिली थी।

ज्यादातर बैंकों ने पहले ​ही कह दिया था कि इस बारे में घोषित योजना के अनुसार वे मोरेटोरियम पीरियड के बाद इन 6 महीनों का ब्याज बाद में वसूलेंगे। इसका मतलब हुआ कि लोन लेने वालों के सामने दोहरी समस्या है। बहुत से लोग ऐसे हें, जिनकी लॉकडाउन की वजह से आय प्रभावित हुई है। वहीं दूसरी ओर अगर वे RBI के लोन मोरेटोरियम की सुविधा लेते हैं तो उनकी ईएमआई की रकम बढ़ेगी या ईएमआई की संख्या पहले के मुकाबले बढ़ जाएगी।

आप ले सकते हैं ये तीन ऑप्शन

ऑप्शन नंबर-1 पहले विकल्प में कहा गया है कि मोरेटोरियम पीरियड में किस्त नहीं देने पर जो ब्याज बनता है, जून में उसका एक मुश्त भुगतान किया जाए।

ऑप्शन नंबर-2 इस दौरान जो भी ब्याज बने, उसे लोन की बाकी रकम में जोड़ दिया जाए। और उसे बची हुई ईएमआई में बराबर बांट दिया जाए। अगर आसान शब्दों में कहें तो आपने करीब 29 लाख रुपये का लोन 20 साल के लिए लिया है। इस पर हर महीने की ईएमआई 25225 रुपये के करीब होती है। अब तक आप 12 किस्त चुका चुके हैं और 228 किस्तें बाकी हैं।


अब अगर आप मोरेटोरियम का विकल्प चुनकर 3 माह ईएमआई टालते हैं तो 3 महीने बाद आपकी ईएमआई 25225 की जगह 25650 रुपये के करीब हो जाएगी। यहां आपकी ईएमआई की बची अवधि 228 ही रहेगी।


ऑप्शन नंबर-3 ईएमआई को न बदला जाए लेकिन लोन की अवधि बढ़ा दी जाए। अगर आसान शब्दों में कहें तो आपने करीब 29 लाख रुपये का लोन 20 साल के लिए लिया है। इस पर हर महीने की ईएमआई 25225 रुपये के करीब होती है। अब तक आप 12 किस्त चुका चुके हैं और 228 किस्तें बाकी हैं।


अब अगर आप मोरेटोरियम का विकल्प चुनकर 3 माह ईएमआई टालते हैं तो 3 महीने बाद आपकी ईएमआई 25225 की जगह 25650 रुपये के करीब हो जाएगी। यहां आपकी ईएमआई की बची अवधि की जगह 238 हो जाएगी। यानी आप पर 7 ईएमआई का अतिरिक्त बोझ बढ़ जाएगा। या ऐसे समझ लें कि आपकी ईएमआई की अवधि 10 महीने बढ़ा दी जाएगी।


ऑप्शन-4 आप पहले की तरह सामान्य तौर पर ईएमआई कटने दें।

कुछ बैंक खुद ईएमआई रोक रहे हैं, जबकि कई से आपको कहना होगा


1।भारतीय स्‍टेट बैंक

ग्राहक के कहने पर ही रोकी जाएगी ईएमआई।


कैसे रोकना है ईएमआई : लोन की ईएमआई रोकने के लिए बैंक को ईमेल भेजना होगा।


2। केनरा बैंक

ग्राहक के कहने पर ही रोकी जाएगी ईएमआई।


कैसे रोकना है ईएमआई : बैंक के भेजे गए एसएमएस पर 8422004008 पर 'नो' लिखकर भेजें। अगर एसएमएस नहीं मिला है तो [email protected]।com पर ईमेल भेजें।


3। आईसीआईसीआई बैंक

 टू-व्‍हीलर, बिजनेस, फार्म और ज्‍वैलरी लोन के मामले में अपने आप रोकी जाएगी ईएमआई। अन्‍य लोन में ग्राहकों के कहने पर ऐसा किया जाएगा।


कैसे रोकना है ईएमआई : विकल्‍पों को देखकर बैंक की वेबसाइट पर जाएं। इसी के अनुसार एसएमएस या ईमेल भेजें।


4। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया

डिफॉल्‍ट ऑप्‍शन : अपने आप रोकी जाएगी ईएमआई।


कैसे देना है ईएमआई : ईएमआई जारी रखने के लिए बैंक से संपर्क करें।


5। बैंक ऑफ बड़ौदा


डिफॉल्‍ट ऑप्‍शन : अपने आप रोकी जाएगी ईएमआई। लेकिन जहां ग्राहक ने ईसीएस/एनएसीएच/स्‍टैंडिंग इंस्‍ट्रक्‍शन से मैंडेट दिया है, वहां बैंक ग्राहक के मैंडेट का सम्‍मान करेगा।


कैसे रोकें ईएमआई : ईएमआई रोकने के लिए बैंक को ईमेल या लेटर भेजना होगा।


6। एचडीएफसी बैंक

डिफॉल्‍ट ऑप्‍शन : ग्राहक के कहने पर ही रोकी जाएगी ईएमआई। लोन की ईएमआई रोकने के लिए 022-50042333 या 022-50042211 पर कॉल करें और निर्देशों को सुनें या बैंक की वेबसाइट पर अपने अनुरोध को जमा करें।


7। कोटक महिंद्रा बैंक

डिफॉल्‍ट ऑप्‍शन : ग्राहक के कहने पर ही रोकी जाएगी ईएमआई। ईएमआई रोकने के लिए pay।[email protected]।comto पर ईमेल भेजना होगा।


8। एक्सिस बैंक

डिफॉल्‍ट ऑप्‍शन : गोल्‍ड, केसीसी, किसान, फाइक्रोफाइनेंस, कमोडिटी, ट्रैक्‍टर, कमर्शियल व्‍हीकल, कंस्‍ट्रक्‍शन इक्विपमेंट, बिजनेस और अनसिक्‍योर्ड ओवरड्राफ्ट और टर्म लोन के लिए अपने आप रोकी जाएगी ईएमआई। अन्‍य लोन के मामले में ग्राहक की मांग पर ऐसा किया जाएगा।

कैसे रोकें/भुगतान करें ईएमआई : जिन लोन में अपने आप राहत दी जाएगी या जिनमें नहीं दी जाएगी, उनके लिए बैंक की वेबसाइट पर जाएं। उसी के अनुसार एसएमएस या ईमेल करें।


9। बैंक ऑफ इंडिया डिफॉल्‍ट ऑप्‍शन : अपने आप रोकी जाएगी ईएमआई।


कैसे करें भुगतान : ईएमआई को जारी रखने के लिए ब्रांच में संपर्क करें।


SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER