इंडिया / अमित शाह से मुलाकात के बाद फडणवीस बोले- कौन क्या बोलता है, मैं नहीं कह सकता

Live Hindustan : Nov 04, 2019, 03:20 PM

नई दिल्ली | महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर भाजपा और शिवसेना के मध्य गतिरोध के बीच मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिले। यह मुलाकात करीब 40 मिनट यह मुलाकात चली। इस मुलाकात के बाद फडणवीस ने कहा कि अमित शाह से किसानों के मुद्दे पर बातचीत हुई है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार को मदद करनी चाहिए। उन्होंने बताया कि प्राथमिक अंदाज जो है वह केन्द्र सरकार को बताया है। नुकसान का अंदाज लगाने के लिए केन्द्र सरकार को कहा गया है कि तुरंत भेजे। उन्होंने पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि महाराष्ट्र को जल्द से जल्द अवश्यकता है और जल्द से जल्द सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि कौन क्या बोलता है, मैं नहीं कह सकता। फडणवीस ने अमित शाह से बेमौसम बारिश से फसल की बर्बादी पर किसानों के लिए और मदद की मांग की है। आपको बता दें कि विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के 11 दिन बाद भी महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर कवायदें जारी है। 

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के 24 अक्टूबर को आए नजीतों में भाजपा को 105 सीटों पर जीत मिली है जबकि शिवसेना ने 56 सीटों पर जीत हासिल की। 288 सदस्यीय विधानसभा में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला, लिहाजा गठबंधन कर चुनाव लड़ने वाली भाजपा और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान चल रही है। फडणवीस की शाह से मुलाकात के दौरान बेमौसम बारिश से प्रभावित राज्य के किसानों को राष्ट्रीय आपदा राहत कोष से मदद दिलाने पर चर्चा की बात कही जा रही है। 

राज्य सरकार ने प्रभावित किसानों को 10 हजार करोड़ रुपये का राहत पैकेज देने का ऐलान किया है, हालांकि भाजपा की सहयोगी शिवसेना के साथ साथ कांग्रेस और राकांपा ने भी इस पैकेज को अपर्याप्त बताया है। राज्य सरकार ने कहा है कि बेमौसम बारिश से 52.44 लाख हेक्टेयर जमीन पर फसल बर्बाद हुई है।  महाराष्ट्र की मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल नौ नवंबर को खत्म हो जाएगा।

सोनिया ने आज मिलेंगे पवार 

एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार भी सोमवार को दिल्ला आ रहे है। सूत्रों के मुताबिक शरद पवार कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से सोमवार सुबह 11 बजे मुलाकात करेंगे। हालांकि अभी तक शरद पवार और सोनिया गांधी के मुलाकात करने की आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। लेकिन शनिवार को अजित पवार ने दोनों नेताओं के मुलाकात करने की बात कही थी।

शिवसेना राजभवन जाएगी

शिवसेना महाराष्ट्र के राज्यपाल से सोमवार शाम पांच बजे मुलाकात करेगी। इस दौरान शिवेसना के नेता संजय राउत राज्यपाल को चुनाव बाद महाराष्ट्र में उपजे राजनीतिक हालात की जानकारी देंगे। 

आपको बता दें, शिवसेना के 56 विधायक हैं, जबकि कांग्रेस के पास 44 और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के पास 54 विधायक हैं। वहीं, निर्दलीय विधायकों की संख्या एक दर्जन से ज्यादा है। अगर ये सभी पार्टियां एकसाथ आती हैं तो ये आंकड़ा 170 के करीब पहुंचता है। यह पूछे जाने पर कि क्या सरकार गठन का ‘रिमोट कंट्रोल’ अब उनकी पार्टी के पास है। राउत ने कहा, यह कोई खेल नहीं है। बल्कि शिवसेना के लिए विश्वास, आत्म-सम्मान और सच्चाई का मामला है। उन्होंने कहा, महाराष्ट्र ने कभी भी झूठ को बर्दाश्त नहीं किया है। यदि आप स्वीकार नहीं करते हैं कि क्या तय हुआ था तो लोग आपको सबक सिखाएंगे। बाधा उन लोगों से है जो झूठ बोलते हैं। राउत ने कहा कि अगर भाजपा अध्यक्ष और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे बैठते हैं तथा इस पर चर्चा करते हैं तो गतिरोध का हल किया जा सकता है।