India-Pakistan Relations / UN में पहली बार भारत से खौफजदा होकर इस तरह फूट-फूट कर रोया पाकिस्तान, करि ये शिकायतें

Vikrant Shekhawat : May 03, 2024, 08:00 PM
India-Pakistan Relations: कभी आतंकियों के दम पर भारत को बात-बात में गीदड़भभकी देने वाला पाकिस्तान मोदीराज में इस कदर खौफजदा हो गया है कि वह संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में अजीबोगरीब शिकायतें करने पहुंच गया। भारत के खिलाफ शिकायतों की लंबी लिस्ट लिए पाकिस्तान को यूएन में गिड़गिड़ाते और रोने के अंदाज में शिकायतें करते देखकर आप भी हैरान रह जाएंगे। इस बार पाकिस्तान की शिकायतें भी अजब-गजब की थीं। आइए अब आपको बताते हैं कि पीएम मोदी की सरकार से पाकिस्तान क्यों इतना डरा और घबराया हुआ है...?

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष को एक पत्र लिखकर भारत की लंबी-चौड़ी शिकायत की है। इसमें पाकिस्तान ने भारत पर अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा संबंधी शिकायतें करते हुए बुनियादी मानदंडों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है। शिकायती पत्र में कहा गया है कि हमें ऐसे सुबूत मिले हैं कि भारत पाकिस्तान में क्षेत्रीय और न्यायेत्तर हत्याएं करवा रहा है। इसमें पड़ोसी ने अपने देश में हुई कई हत्याओं का जिक्र भी किया है, जिनकी किसी अज्ञात हमलावरों ने अलग-अलग जगहों पर पूर्व के दिनों में हत्या कर दी थी। मगर पाकिस्तान ने इसका निराधार आरोप भारत पर लगाने का प्रयास किया है। पाकिस्तान ने गत वर्ष रावलकोट, पीओके में मारे गए आतंकी मुहम्मद रियाज और सियालकोट में आतंकवादी शाहिद लतीफ की हत्या का जिक्र भी किया है। 

पाकिस्तान ने लगाया ये बेबुनियाद आरोप

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में भारत के खिलाफ शिकायत में कहा है कि उक्त हत्याएं अंतरराष्ट्रीय कानूनों का घोर उल्लंघन हैं। इससे पाकिस्तान की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के साथ मानवाधिकार के मामले भी शामिल हैं। पाकिस्तान ने कहा है कि इन जघन्य मामलों में हमने जो गिरफ्तारियां की हैं, उनसे एक ऐसे नेटवर्क का पता चलता है, जिसमें भारतीय नागरिकों के साथ किसी तीसरे देश के एजेंट शामिल हैं। पाकिस्तान का आरोप है कि भारत इसके लिए सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से भर्ती अभियान चलाकर ऐसी घटनाओं को अंजाम दिलवा रहा है। 

शिकायत में हरदीप निज्जर की हत्या का भी जिक्र

संयुक्त राष्ट्र में अपना रोना रोते वक्त पाकिस्तान ने कनाडा में मारे गए खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या का भी जिक्र किया और कहा कि भारतीय एजेंटों की ऐसी कार्रवाइयां सिर्फ पाकिस्तान तक ही सीमित नहीं हैं, बल्कि कनाडा समेत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैली हुई हैं। इसमें अमेरिका में गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या की कोशिश का मामला भी शामिल है। बता दें कि पाकिस्तान कनाडा और अमेरिका के जिन मामलों का जिक्र कर रहा है, भारत उन आरोपों को पहले ही खारिज कर चुका है और इसमें उच्च स्तरीय जांच कमेटी गठित किया है।

पीएम मोदी के घुसकर मारने की नीति की भी शिकायत

यूएन में पाकिस्तान शिकायतें करते सिर्फ यहीं नहीं रुका, बल्कि उसने पीएम मोदी की ओर से दुश्मनों को उनके घर में घुसकर मारने वाली बात का भी जिक्र किया। पाकिस्तान ने कहा कि विदेश में हत्या अभियानों पर ब्रिटिश अखबार द गार्जियन में खबर छपने के बाद भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का साफ बयान आ चुका है कि यदि किसी भी पड़ोसी देश का आतंकवादी भारत को परेशान करने या कहीं आतंकवादी गतिवधियों को अंजाम देने की कोशिश करेगा तो उसे माकूल जवाब दिया जाएगा। अगर वह पाकिस्तान भाग गया तो उसे वहीं जाकर मार डालेंगे।

पाकिस्तान ने कहा कि पीएम मोदी भी इसी नीति का समर्थन करते हैं। शिकायत में पाकिस्तान ने कहा है कि भारतीय नेताओं के उक्त कथन एक तरह से अंतरराष्ट्रीय हत्याओं पर अपनी संलिप्तता को स्वीकार करना है। साथ ही पाकिस्तान में और अधिक नागरिकों को जिन्हें मनमाने ढंग से आतंकवादी कहा जाता है, उन्हें भी फांसी पर लटकाने की अपनी तैयारी की घोषणा करने जैसा है। पाकिस्तान ने कहा कि यह संयुक्त राष्ट्र चार्टर और मानवाधिकारों का भी घोर अंतरराष्ट्रीय उल्लंघन है। भारत के खिलाफ उक्त सारी शिकायतें करने के बाद पाकिस्तान ने यूएन से इसकी निंदा करने, ऐसे अपराधियों को जिम्मेदार ठहराने जैसी मांगें की हैं।  

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER