World Cup-2023 / भारत का वर्ल्ड कप जीत का सपना इन 12 मैचों पर टिका है, देखें

Zoom News : Jun 19, 2023, 07:57 AM
World Cup-2023: भारतीय क्रिकेट टीम से उम्मीद थी कि वो आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जीत हासिल करेगी और आईसीसी ट्रॉफी जीतने के सूखे को खत्म करेगी. इसमें टीम इंडिया फेल हो गई. लेकिन अभी एक बड़ा टूर्नामेंट बचा है जिससे भारत ये सूखा खत्म कर सकता है और इस टूर्नामेंट से देश को काफी उम्मीदें हैं. ये टूर्नामेंट है आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप.ये वर्ल्ड कप भारत में ही अक्टूबर और नवंबर में खेला जाएगा.टीम इंडिया हर हाल में इस विश्व कप को अपने नाम करना चाहेगी और इसकी तैयारी के लिए अब उसके पास सिर्फ 12 मैच हैं.

भारत आखिरी बार आईसीसी ट्रॉफी 2013 में जीता था लेकिन इसके बाद से टीम इंडिया के आईसीसी ट्रॉफी जीतने का सूखा जारी है. वहीं भारत ने आखिरी बार वनडे वर्ल्ड कप 2011 में अपने ही घर में जीता था और अब एक बार फिर उसे अपने घर में मौका मिल रहा है. टीम इंडिया के पास समय कम है और इस समय में उसे कई पहेलियों को सुलझाना है.

12 मौकों को भुनाना होगा

अब ये भी जान लीजिए कि हम किन 12 मौकों की बात कर रहे हैं. दरअसल, भारत को विश्व कप से पहले तकरीबन 12 वनडे मैच खेलने हैं और इन मैचों में ही उसे अपनी विश्व विजेता बनने की तैयारी करनी होगी. भारत को अगले महीने वेस्टइंडीज का दौरा करना है. इस दौरे पर भारत को तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलनी है. इसके बाद भारत को 31 अगस्त से 17 सितंबर के बीच एशिया कप खेलने जाना है. ये एशिया कप इस बार वनडे फॉर्मेंट में खेला जाना है.अगर भारत इस एशिया कप के फाइनल में पहुंचता है तो उसे यहां छह मैच खेलने होंगे.

भारत को ग्रुप चरण में दो मैच खेलने ही होंगे.इसके बाद अगर भारत सुपर-4 में जाता है तो फिर यहां तीन टीमों से तीन मैच खेलेगा और फिर अगर फाइनल में जगह बनाता है तो फिर एक मैच ये, यानी हो गए कुल छह मैच.इसके बाद भारत को सितंबर में ऑस्ट्रेलिया की मेजबानी करनी है. इस दौरे पर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज खेली जानी है.इसके बाद भारत को वर्ल्ड कप ही खेलना है.वेस्टइंडीज दौरे से लेकर ऑस्ट्रेलिया सीरीज तक भारत को कुल 12 वनडे मैच खेलने का मौका मिल सकता है.

कमियों का करना है खत्म

भारत को वनडे विश्व कप की तैयारी के लिए ये ही मैच मिलेंगे और इन्हीं मैचों में भारत को अपनी सभी कमियों को खत्म करना होगा. फिर चाहे वो मजबूत सलामी जोड़ी की हो या मजबूत मध्य क्रम तैयार करने की. कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ के सामने टीम के मध्य क्रम को तैयार करने की चुनौती है. इस मध्य क्रम को बीते कुछ समय से श्रेयस अय्यर ने बखूबी संभाले रखा है. लेकिन वह इस समय चोटिल हैं. हालांकि उम्मीद है कि वह एशिया कप तक फिट हो जाएंगे. लेकिन उनके अलावा मध्य क्रम को कौन संभालेगा इस बात पर भी टीम को ध्यान देना होगा.

क्योंकि ऋषभ पंत भी चोटिल हैं और उनका वनडे वर्ल्ड कप के में न खेल पाना लगभग तय है. ऐसे में भारत को उनका भी विकल्प निकालना होगा.अभी तक भारत केएल राहुल को वनडे में बतौर विकेटकीपर और मध्य क्रम के बल्लेबाज के तौर पर खिला रहा था,लेकिन राहुल का फॉर्म अच्छा नहीं रहा है.साथ ही वह भी चोटिल हैं. उनके भी हालांकि एशिया कप तक फिट होने की उम्मीद है लेकिन लौटने के बाद अगर राहुल अपनी लय में नहीं दिखते हैं तो फिर भारत को बैकअप तैयार करना होगा. रोहित और राहुल इन्हीं 12 मैचों में सही टीम संयोजन तलाशने की भी कोशिश करेंगे.

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER