शानदार उपलब्ध / किशोरों को कोरोना का टीका लगाने में जम्मू कश्मीर देश भर में दूसरे स्थान पर

Zoom News : Apr 16, 2022, 11:47 AM
देश के विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 15 से 18 उम्र के आयु वर्ग के किशोरों को कोरोना टीकाकरण के मामले में जम्मू-कश्मीर ने शानदार उपलब्धि हासिल की है। वैक्सीन की दोनों खुराक लगाने के मामले में आंध्र प्रदेश 15-18 आयु वर्ग की लक्षित आबादी के 102.9 फीसदी के साथ शीर्ष पर है। इसके बाद जम्मू-कश्मीर 83.6 प्रतिशत के साथ दूसरे स्थान पर है।

हिमाचल प्रदेश 80.8 फीसदी के साथ तीसरे स्थान पर

हिमाचल प्रदेश 80.8 फीसदी के साथ तीसरे स्थान पर है। इसके विपरीत 10 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में यह आंकड़ा 40 फीसदी से भी कम है। दूसरी खुराक का राष्ट्रीय औसत 54.3 प्रतिशत है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, वैक्सीन की दोनों खुराक लगाने के मामले में छत्तीसगढ़, हरियाणा, केरल, महाराष्ट्र, मिजोरम, पुडुचेरी, त्रिपुरा और लक्षद्वीप में यह आंकड़ा 50 फीसदी से कम है।

10 प्रतिशत के साथ मेघालय सूची में सबसे नीचे

इस मामले में 10 प्रतिशत के साथ मेघालय सूची में सबसे नीचे है। 15 अप्रैल के आंकड़ों के मुताबिक, मेघालय से आगे नगालैंड (18.7 फीसदी) और मणिपुर (24.6 प्रतिशत) हैं। इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश में 28.9 फीसदी, झारखंड में 30.7 प्रतिशत, बिहार में 35.2 प्रतिशत को टीके लगे हैं। 

असम में 36.4 फीसदी, पंजाब में 37 प्रतिशत और चंडीगढ़ में 37.1 फीसदी किशोरों को कोरोना की दोनों खुराक लगी हैं। दादर नगर हवेली और दमन एवं दीव में 38.2 फीसदी को वैक्सीन लगाई गई है।

इस श्रेणी में प्रदेश में 8,33,000 किशोर 

जम्मू-कश्मीर में इस वर्ग में टीकाकरण के लिए अनुमानित आबादी 8,33,000 आंकी गई। जिसमें  8,68,942 को पहली और 6,97,872 किशोरों को टीके की दूसरी खुराक दी जा चुकी है। एक अनुमान के मुताबिक, देश में इस आयु वर्ग के 7,40,57,000 किशोर हैं। देश में 3 जनवरी से 15-18 आयु वर्ग के किशोरों का टीकाकरण शुरू हुआ है। 

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER