Taarak Mehta / घर परिवार छोड़कर सन्यासी बने जेठा लाल, बबिता सहित गोकुलधाम सोसायटी के उड़े होश

Jansatta : Apr 04, 2020, 02:37 PM

Taarak Mehta ka Ooltah Chashmaah: तारक मेहता का उल्टा चश्मा दर्शकों का पसंदीदा कॉमेडी सीरियल है। इसी वजह से लंबे समय से टीवी पर बिना रुके चलता चला आ रहा है। 11 साल से लंबे समय से चल रहे इस धारावाहिक में अलग-अलग कहानियों को दिखाया जा चुका है। ऐसे ही शो में एक बार दिखाया गया था कि जेठा लाल की पत्नी दया के अलावा एक और महिला उनकी पत्नी होने का दावा करती है, जिसे जेठा लाल साफ इंकार कर देते हैं। इतना ही नहीं वो महिला जेठा लाल संग शादी के अपने फोटो भी गोकुलधाम वासियों को दिखाती है जिसके बाद जेठा लाल शक के घेरे में आ जाते हैं।

लेकिन इसके बाद भी जेठा लाल गुलाबो को अपनी पत्नी मानने से इंकार कर देते हैं। वहीं जेठा लाल अपनी पत्नी दया, बबिता और पूरी सोसायटी के सामने कहते हैं कि उन्होंने बहुत पहले एक फिल्म की शूटिंग में हिस्सा लिया था और गुलाबो तब ही की तस्वीरें दिखा रही है। लेकिन जेठा लाल की इस बात से नाराज हो कर गुलाबो उन पर कोर्ट केस करने का फैसला करती है। इतना ही नहीं वो सोसायटी कंपाउंड में अपनी एक झोपड़ी भी जेठा लाल के घर के आगे डाल लेती है और कहती है कि जब तक जेठा लाल उनको अपनी पत्नी नहीं मान लेते वो यहीं रहेंगी।

इधर गहरे संकट में पड़े जेठा लाल कोर्ट में ये साबित करने में विफल हो जाते हैं कि गुलाबो उनकी पत्नी नहीं है। जिसके बाद गुलाबो उन्हें गोकुलधाम सोसायटी से ले जाने की बात करती है। वहीं जेठा लाल इस संकट से बचने के लिए घर परिवार छोड़ कर सन्यासी बनने का फैसला कर लेते हैं। वो गोकुलधाम सोसायटी में अपना सर मुड़वा साधु की वेशभूषा में पहुंचते हैं और कहते हैं कि वो सबको त्याग कर हिमालय पर जा रहे हैं तपस्या करने, उनका ऐसा रूप देख कर बबिता सहित सभी काफी डर जाते हैं।

वहीं गुलाबो उनके इस रूप को देख कर कहती है मुझे आपका ऐसा रूप नहीं चाहिए। जिसके बाद वो उन्हें छोड़ कर जाने का फैसला कर लेती है। वहीं इसके बाद जेठा लाल सोसायटी वालों से कहते हैं कि ये सब मुझे गुलाबो से बचने के लिए करना पड़ा। उसके बाद वो अपने साधारण कपड़ों में आ जाते हैं और सभी गोकुलधाम वासी उन्हें देखकर खुश हो जाते हैं।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER