देश / दोस्ती मजबूत करने भारत पहुंचीं शेख हसीना, लेकिन इस मुद्दे पर दे दी ये बड़ी नसीहत

Zoom News : Sep 05, 2022, 04:17 PM
India-Bangladesh Relations: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना सोमवार को चार दिन के भारत दौरे पर पहुंचीं. शेख हसीना की ये यात्रा भारत-बांग्लादेश के संबंधों के लिए बेहद अहम मानी जा रही है. भारत-बांग्लादेश के बीच वाटर मैनेजमेंट, रेलवे, साइंस एंड टेक्नोलॉजी जैसे क्षेत्रों में कम से कम सात द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे. लेकिन दौरे से पहले शेख हसीना ने भारत को एक बड़ी नसीहत दी थी. साथ ही चीन-भारत के बीच चल रहे तनाव पर भी बात कही. 

उन्होंने रविवार को एक बयान में कहा, "हम नीचे हैं इसलिए पानी भारत की ओर से आ रहा है. लिहाजा भारत को ज्यादा उदारता दिखानी चाहिए. ताकि दोनों देशों को फायदा हो. कई बार हमारे लोगों को इसे काफी नुकसान होता है, खासकर तीस्ता नदी से. पीएम नरेंद्र मोदी इस मुद्दे को सुलझाना चाहते हैं लेकिन दिक्कत आपके देश में है. हम सिर्फ गंगा का पानी शेयर करते हैं लेकिन हमारे पास 54 अन्य नदियां हैं. यह लंबे समय से चली आ रही समस्या है, जिसे सुलझाना चाहिए.''

चीन-भारत पर कही ये बात

उन्होंने आगे कहा, हमारी विदेश नीति स्पष्ट है. सभी से दोस्ती, किसी से द्वेष नहीं. अगर कोई दिक्कत है तो वह चीन और भारत के बीच है. हम उसमें अपनी टांग नहीं अड़ाएंगे. हसीना ने कहा, "उन्होंने कहा कि मैं अपने देश का विकास चाहती हूं. क्योंकि भारत हमारा पड़ोसी है तो हमारे उससे बहुत अच्छे संबंध हैं. हमारे बीच द्विपक्षीय परेशानियां हैं लेकिन हमने कई समस्याएं सुलझाई हैं.'' 

बता दें कि साउथ एशिया में भारत का बांग्लादेश सबसे बड़ा साझेदार है. पिछले 5 साल में दोनों देशों के बीच व्यापार 9 बिलियन डॉलर से बढ़कर 18 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया है. बांग्लादेश भारत का चौथा एक्सपोर्ट डेस्टिनेशन बन गया है. 2020-21 में जहां एक्सपोर्ट 9.69 बिलियन अमेरिकी डॉलर था, वह 2021-22 में बढ़कर 16.15 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंच गया है.

पीएम मोदी के न्योते पर आ रहीं भारत

बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ एके अब्दुल मोमेन ने कहा था, 'यह एक आधिकारिक यात्रा है और वह (हसीना) अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर दिल्ली जा रही हैं.' मोमेन ने कहा कि हसीना और मोदी के बीच बातचीत के दौरान सुरक्षा सहयोग, निवेश, व्यापार संबंध बढ़ाने, बिजली और ऊर्जा क्षेत्र में सहयोग, साझा नदियों का जल बंटवारा, जल संसाधन प्रबंधन, सीमा प्रबंधन और मादक पदार्थों की तस्करी एवं मानव तस्करी से जुड़े मुद्दों को प्राथमिकता दिए जाने की संभावना है. हसीना के साथ मोमेन भी भारत दौरे पर आए हैं. हसीना का तीन साल बाद यह पहला भारत दौरा होगा. इससे पहले वह 2019 में भारत आई थीं.  

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER