स्पोर्ट्स / शुबमन गिल ने जड़ा दोहरा शतक, तोड़ा 17 साल पुराना गौतम गंभीर का ये खास रिकॉर्ड

India TV : Aug 09, 2019, 11:03 AM

खेलडेस्क. भारत के वेस्टइंडीज दौरे में चयनित ना होने वाले धाकड़ युवा बल्लेबाज शुबमन गिल ने दोहरा शतक ठोंक कर एक बार फिर अपनी वापसी का मजबूत दावा पेश किया है। गिल ने इंडिया ए की तरफ से खेलते हुए वेस्टइंडीज ए के खिलाफ जैसे ही दोहरा शतक जड़ा उन्होंने पूर्व भारतीय खिलाड़ी गौतम गंभीर के  रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया। गिल अब इंडिया ए (यानी भारत की किसी जूनियर टीम) की तरफ से प्रथम श्रेणी मैचों में दोहरा शतक जड़ने वाले सबसे युवा बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने ये कारनामा 19 साल 334 दिन में हासिल कर लिया। जबकि इस्ससे पहले गौतम गंभीर ने बोर्ड प्रेजिडेंट इलेवन की तरफ से खेलते हुए ज़िम्बाब्वे के खिलाफ 2002 में दोहर शतक जड़ा था। 

शुबमन गिल ने 250 गेंदों में नाबाद 204 रनों की पारी खेली। जिसमें उन्होंने 19 चौके और 2 छक्के जड़ें। इस पारी के दौरान उनका शानदार स्ट्राइक रेट 81.60 का रहा। पहली पारी में शून्य पर आउट होने वाले शुबमन गिल ने इंडिया ए के कप्तान हनुमां विहारी के साथ 315 रनों की साझेदारी निभाई। 

गिल ने दोहरा तो हनुमां विहारी ने भी 118 रनों की शतकीय पारी खेली। जिसके चलते इंडिया ए ने वेस्टइंडीज ए के सामने 373 रनों का विशाल लक्ष्य रखा। दिन के खेल के अंत तक दूसरी पारी में 37 रन पर वेस्टइंडीज ए के सलामी बल्लेबाज टिके हुए हैं। ऐसे में चौथे दिन वेस्टइंडीज की टीम को जीत के लिए और 336 रन बनाने होंगे जबकि टीम इंडिया को 10 विकेट हासिल करने होंगे।

इंडिया ए के वेस्टइंडीज दौरे पर 19 साल के युवा बल्लेबाज शुबमन गिल काफी शानदार फॉर्म में हैं। उन्होंने 50 ओवर की सीरीज के चार मैचों में 50 की अधिक औसत से 218 रन जड़ें थे।

इस तरह घरेलू क्रिकेट समेत इंडिया ए की तरफ से भी रनों का अम्बार लगाने के बावजूद भारतीय चयनकर्ता एम. एस. के प्रसाद ने उन्हें टीम इंडिया के वेस्टइंडीज दौरे पर किसी भी टीम में जगह नहीं दी थी। जिसके बाद शुबमन गिल के बल्ले ने उन्हें करारा जवाब दिया है। ऐसे में हम उम्मीद करते हैं की गिल को वेस्टइंडीज दौर के बाद आने वाली घरेलू सीरीज में भारतीय टीम की नीली जर्सी में एक बार फिर खेलते देखेंगे।

बता दें कि युवा शुबमन गिल का वनडे क्रिकेट में पदार्पण न्यूजीलैंड के खिलाफ उसकी सरजमीं पर हुआ था, जहां गिल दो पारियों में सिर्फ 9 रन बना पाए थे। जिसके बाद से उन्हें टीम इंडिया में दोबारा में जगह नहीं मिली है।