दिल्ली आग / अनाजमंडी इलाके भीषण आग का तांडव 43 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

AMAR UJALA : Dec 08, 2019, 11:30 AM

नई दिल्ली | दिल्ली के अनाजमंडी इलाके में रविवार तड़के लगी भीषण आग में अब तक 43 लोगों की मौत हो चुकी है। बताया जा रहा है कि संकरी गलियों में स्थित पैकेजिंग और बैग बनाने वाली फैक्ट्री में शार्ट सर्किट होने से आग लगी। दिल्ली पुलिस के अनुसार, इनमें से अधिकतर लोगों की मौत दम घुटने से हुई है। मरने वाले अधिकतर लोग यूपी और बिहार के बताए जा रहे हैं।

अग्निशमन सेवा के एक अधिकारी ने बताया कि आग लगने की जानकारी सुबह पांच बजकर 22 मिनट पर मिली जिसके बाद दमकल की 30 गाड़ियों को घटनास्थल पर भेजा गया। उन्होंने बताया कि आवासीय इलाके में चलाई जा रही फैक्ट्री में आग लगने के समय 50 से अधिक लोग थे। 

दमकल के अधिकारियों ने बताया कि आग के कारण फंसे कई लोगों को बाहर निकालकर आरएमएल अस्पताल एवं हिंदू राव अस्पताल ले जाया गया है। 

घटनास्थल जाएंगे मुख्यमंत्री केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल थोड़ी देर में घटनास्थल पर पहुंचने वाले हैं। इससे पहले उन्होंने कहा कि अनाज मंडी क्षेत्र में आग लगने की घटना दुखद है और दमकल कर्मी लोगों को बचाने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं। वहीं घटनास्थल पर एनडीआरएफ की टीम भी पहुंच गई है और लोगों की मदद कर रही है। 

पीएम मोदी और गृहमंत्री शाह ने जताया दुख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के अनाज मंडी क्षेत्र में आग लगने की घटना को बेहद भयानक बताया। उन्होंने कहा कि अधिकारी आग लगने के स्थल पर लोगों को सभी संभव मदद मुहैया करा रहे हैं। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, 'आग की घटना में जान गंवाने वाले लोगों के परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं, आग में झुलसे लोगों के तेजी से ठीक होने की कामना करता हूं।' गृह मंत्री अमित शाह ने दुख जताते हुए ट्वीट किया है कि संबंधित अधिकारियों को तत्काल आधार पर सभी संभव सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं।

राहुल गांधी ने ने ट्वीट किया कि दिल्ली के अनाज मंडी में भीषण आग लगने से कई लोगों की मौत और अनेक लोगों के घायल होने की खबर से आहत हूं। मृतकों के परिवार के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

बिल्डिंग में होता है पैकेजिंग का काम

बता दें कि आग बिल्डिंग की छठी मंजिल पर लगी थी, जिसके कारण लोग नीचे नहीं उतर पाए। बिल्डिंग में जो जिस जगह पर था, वो वहीं फंसा रह गया। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने बताया कि इस बिल्डिंग में पैकिंग का काम किया जाता था। बिल्डिंग के अंदर संकरी जगह होने के कारण लोगों को भागने में ज्यादा दिक्कत हुई। इस वजह से करीब 50 प्रतिशत लोग आग की चपेट में आ गाए।

लोक नायक अस्पताल में हुई 14 लोगों की मौत

वहीं लोक नायक अस्पताल के अधीक्षक ने बताया है कि लोक नायक अस्पताल में 14 लोगों की मौत हुई है। डॉक्टरों की टीम घायलों का इलाज कर रही है। वहीं मुख्य अग्निशमन अधिकारी अतुल गर्ग ने बताया कि अबतक 50 लोगों को बचाया जा चुका है, जिनमें से अधिकतर आग और धुएं के कारण घायल हो गए हैं।

मौके पर पहुंचे अग्निशमन विभाग के अधिकारी

उप मुख्य अग्निशमन अधिकारी सुनील चौधरी ने बताया था कि काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया है। अबतक घटनास्थल से कई लोगों को बचाया जा चुका है और बचाव कार्य अब भी जारी है।