विश्व / भारत को कश्मीर से प्रतिबंध हटाने के लिए कहें: ट्रंप से अमेरिकी सांसद

AajTak : Sep 13, 2019, 02:34 PM

जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर सिर्फ भारत-पाकिस्तान ही नहीं बल्कि अमेरिका की राजनीति में भी हलचल बनी हुई है. अमेरिका के चार सेनेटर्स ने जम्मू-कश्मीर के मसले पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को चिट्ठी लिखी है. सेनेटर्स ने चिट्ठी लिख कर मांग की है कि अमेरिकी राष्ट्रपति को भारत से बात करनी चाहिए और जम्मू-कश्मीर में लगी पाबंदियों को हटाने के लिए कहना चाहिए.

इसके अलावा डोनाल्ड ट्रंप से ये भी अपील की गई है कि जम्मू-कश्मीर में जिन लोगों को हिरासत में लिया गया है उन्हें भी रिहा करना चाहिए. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को चिट्ठी लिखने वालों में सेनेटर क्रिस वैन हॉलन, टॉड यंग, बेन कार्डिन और लिंडसे ग्राहम शामिल हैं.

इसी चिट्ठी में सभी ने अपील की है कि पाकिस्तान को आतंकवाद का साथ देना बंद करना चाहिए, कश्मीर को लेकर किसी भी कदम उठाने से पहले कई बार सोचना चाहिए. सेनेटर्स ने लिखा है कि नरेंद्र मोदी से बातकर डोनाल्ड ट्रंप को जम्मू-कश्मीर में टेलिफोन पर पाबंदी, कर्फ्यू को हटाने की बात करनी चाहिए.

इसके अलावा भी कांग्रेसमैन (सांसद) एरिक स्वैलवेल ने भी इस मसले पर लिखा है कि जम्मू-कश्मीर का मसला सिर्फ भारत-पाकिस्तान का नहीं है, बल्कि पूरी दुनिया का है. क्योंकि इससे दुनिया की अर्थव्यवस्था, सैन्य शक्ति पर असर पड़ने वाला है.

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के मसले पर डोनाल्ड ट्रंप कई बार बयान दे चुके हैं और मध्यस्थता की बात कह चुके हैं. हालांकि, इसपर काफी विवाद भी हुआ है क्योंकि भारत हमेशा कहता आया है कि ये मसला द्विपक्षीय है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी डोनाल्ड ट्रंप के सामने कहा था कि भारत-पाक में जो भी विवाद हैं वह दोनों देश आपस में सुलझा सकते हैं. ऐसे में किसी तीसरे देश को इसमें नहीं घुसना चाहिए. नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप के बीच फ्रांस में हुए जी-7 समिट में मुलाकात हुई थी.