नागौर / हनुमान बेनीवाल ने महिला SP के खिलाफ खोला मोर्चा, जिले से हटाने के लिए गहलोत को लिखा पत्र

Zoom News : Jun 06, 2021, 11:31 AM
नागौर। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने अपने ही जिले के पुलिस कप्तान  शनिवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर नागौर जिला पुलिस अधीक्षक (SP) और IPS श्वेता धनखड़ पर गंभीर आरोप लगाए हैं। सांसद ने अपने पत्र में सीएम गहलोत से कहा कि जिले की पुलिस अधीक्षक की लचर कार्यशैली और कमजोर कानून व्यवस्था के कारण जिले में अपराध बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हाल ही में नागौर जिले में पनप रहे सट्टा कारोबार में नागौर कोतवाल व अन्य पुलिस कार्मिको की संलिप्तता के कारण उन्हें निलंबित किया गया था।

परन्तु इस मामले में एसपी श्वेता धनखड़ की भूमिका की भी जांच एडीजी रैंक के अधिकारी से करवाना अत्यंत जरूरी है, क्योंकि जिस प्रकार सट्टे का कारोबार जिले में पनप गया है, उसमें एसपी की संलिप्तता से इनकार नही किया जा सकता है, उन्होंने कहा कि नागौर एसपी ऑफिस परिसर में हुई चोरी, जायल क्षेत्र के तरनाऊ में हुई बैंक डकैती सहित अनेक ऐसे प्रकरण है। जिनके खुलासे पुलिस आज तक नही कर पाई और हाल ही में खींवसर थाना क्षेत्र में दर्ज सामूहिक बलात्कार व विगत दिनों परबतसर थाने में दर्ज सामूहिक बलात्कार सहित जिले में वर्तमान एसपी के कार्यकाल में महिला अपराध से सम्बन्धित दर्जनों मामलों में एसपी का न तो पीड़ित पक्ष के साथ रवैया सही रहा न ही मामलो में त्वरिता से कार्यवाही की गई।

वहीं हरियाणा निर्मित अवैध शराब का परिवहन, मादक पदार्थो की बढ़ती तस्करी व भूमाफियाओं के साथ पुलिस सिस्टम में बैठे लोगों की मिलीभगत से पुलिस की कार्यशैली पर आम जन सवालिया निशान खड़ा कर रहा है, उन्होंने सीएम से कहा कि आप एक तरफ तो भ्रष्टाचार व अपराध के मामलों में जीरो टॉलरेंस की बात करते है। वहीं दूसरी तरफ राज्य के एक दर्जन जिलों में कार्यरत एसपी भ्रष्टाचार की जड़ें पनपाने में लगे हुए हैं। सिरोही एसपी की करतूतें तो जगजाहिर हैं ही। उन्होंने तत्काल प्रभाव से नागौर एसपी को हटाने की भी मांग की है। बता दें कि शुक्रवार को सांसद हनुमान बेनीवाल ने एसपी के विरुद्ध उक्त मामलों को लेकर राज्य के पुलिस महानिदेशक एम एल लाठर से भी मुलाकात की थी।

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER