तकनीक / राजस्थान में माइक्रोसॉफ्ट स्टार्टअप सिखाएगी तकनीक और व्यवसाय बढ़ाने के गुर

Zoom News : Oct 14, 2019, 02:45 PM
जयपुर | प्रदेश में राजीव (राजस्थान इनोवेशन विजन) के तहत स्टार्टअप इकोसिस्टम को तेज करने के लिये दूसरे चरण में स्टार्टअप के लिए माइक्रोसाफ्ट के साथ मिलकर ‘‘हाइवे टू ए हण्ड्रेड यूनिकोर्नस्’’ कार्यक्रम का आयोजन गुरूवार 17 अक्टूबर को जयपुर में किया जाएगा। इस कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश के नवप्रवर्तनकर्ताओं और उद्यमियों के लिये माइक्रोसॉफ्ट के विशेषज्ञों द्वारा प्रौद्योगिकी कार्यशालाओं एवं सलाहकारी सत्रों के आयोजन के साथ-साथ राज्य सरकार के सदस्यों व प्रमुख पारिस्थितिकी तंत्र हितधारकों के साथ नेटवर्किंग जैसे कार्य किये जायेंगे।

सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग के प्रमुख शासन सचिव अभय कुमार ने कहा, ‘‘राजीव (राजस्थान इनोवेशन विजन) और आईस्टार्ट कार्यक्रम के तहत राज्य सरकार प्रदेश के इको-सिस्टम को मजबूत कर रही है। उन्होंने कहा कि हर स्तर पर स्टार्टअप और युवाओं को आगे बढ़ने के लिये उनकी उद्यमशीलता एवं विचारयात्रा को अमलीजामा पहनाने के लिये प्रारम्भ से लेकर अन्त तक आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराये जा रहे है।

सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग प्रदेश में स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूत करने और उनके व्यवसाय को बढ़ाने के लिए सभी संभव उपायों के साथ-साथ प्रदेश के युवाओं और उद्यमियों को सशक्त बनाने के लिये सतत प्रयास कर रहा है। सभी शैक्षणिक और गैर-शैक्षणिक संस्थानों के साथ-साथ आई-स्टार्ट कार्यक्रम  माइक्रोसॉफ्ट के साथ सहभागिता कर रहा है ताकि प्रदेश में स्टार्टअप के लिए अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी सहायता प्रदान की जा सके तथा इसके लिये अपेक्षित पारिस्थितिकी तंत्र को उचित स्तर तक विकसित करने के लिये लाभकारी सलाह मिल सके। इस लक्ष्य को ध्यान में रखते हुये माइक्रोसॉफ्ट फॉर स्टार्टअप्स द्वारा द्वितीय स्तर के शहरों में ‘‘हाइवे टू ए हण्ड्रेड यूनिकोर्नस्’’ कार्यक्रम चलाया गया है।

लेथिका पाई, कंट्री हेड, माइक्रोसॉफ्ट फॉर स्टार्टअप ने कहा, “आज भारत में बड़ी मात्रा में अनजाने स्टार्ट अप है, उनकी कोई पहचान नहीं है। ‘‘हाइवे टू ए हण्ड्रेड यूनिकोर्नस्’’ के माध्यम से हम महानगरीय स्टार्टअप हब से परे प्रतिभा तक पहुंचेंगे और द्वितीय श्रेणी के शहरों में इनोवेटर्स के साथ जुड़ना शुरू करेंगे। हमारी तकनीकी विशेषज्ञता और कुछ सबसे सफल भारतीय स्टार्टअप के साथ जुड़ने का अनुभव इन इनोवेटर्स को नये उद्यमी के रूप में वैश्विक स्तर पर तैयार करने में निश्चित तौर पर मदद करेगा।

कार्यक्रम में भाग लेने वाले स्टार्टअप्स को एज्योर, मशीन लर्निंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसे विषयों पर प्रौद्योगिकी कार्यशालाओं के माध्यम से मार्गदर्शन और परामर्श प्रदान किया जायेगा। ‘‘इमर्ज 10-राजस्थान’’ कार्यक्रम में स्टार्टअप्स को भी आमंत्रित किया गया है। आई-स्टार्ट प्रोग्राम और माइक्रोसॉफ्ट विशिष्ट रूप से स्टार्टअप्स के विकास को अगले चरण में ले जाने के लिये सभी प्रकार की मदद प्रदान कर रहा है।