India-Russia Relation / युद्ध के मैदान में समाधान संभव नहीं..., द्विपक्षीया वार्ता में पुतिन से बोले PM मोदी

Vikrant Shekhawat : Jul 09, 2024, 05:45 PM
India-Russia Relation: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच द्विपक्षीया वार्ता में अहम मुुद्दों पर चर्चा हुई। वार्ता के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भारत रूस में हुए आतंकी हमलों का दर्द महसूस कर सकता है। आने वाले दिनों में भारत और रूस के रिश्ते और अधिक मजबूत होंगे। पीएम मोदी ने कहा कि रूस के सहयोग से भारत को सस्ता तेल मिल रहा है। "महामहिम और मेरे दोस्त, मैं इस भव्य स्वागत और सम्मान के लिए आपका आभार व्यक्त करता हूं। भारत में चुनावों में हमें अभूतपूर्व जीत मिली। उसके बाद आपने जो शुभकामनाएं दीं, उसके लिए भी मैं आपका आभार व्यक्त करता हूं। मार्च में आपने भी शानदार प्रदर्शन किया था। चुनाव में जीत के लिए मैं एक बार फिर आपको शुभकामनाएं देता हूं।"

'आतंकवाद की कड़ी निंदा'

भारतीय प्रधानमंत्री ने कहा, "पिछले 40-50 साल से भारत आतंकवाद का सामना कर रहा है। आतंकवाद कितना भयानक होता है वह हम पिछले 40 वर्षों से सामना कर रहे हैं। इसलिए, जब मास्को में आतंकवादी घटनाएं हुईं, जब दागिस्तान में आतंकवादी घटनाएं हुईं, उसका दर्द कितना गहरा होगा इसकी मैं कल्पना कर सकता हूं। मैं सभी प्रकार के आतंकवाद की कड़ी निंदा करता हूं।"

'गहरे हैं भारत और रूस के संबंध'

पीएम मोदी ने कहा," पिछले 2.5 दशकों से मेरा रूस के साथ-साथ आपके के साथ भी संबंध रहा है। करीब 10 साल में हम 17 बार मिल चुके हैं। पिछले 25 वर्षों में हमारी लगभग 22 द्विपक्षीय बैठकें हुई हैं। यह हमारे संबंधों की गहराई को दर्शाता है।"

भारत को मिला सहयोग

पीएम मोदी ने मॉस्को में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ बैठक में कहा कि जब दुनिया ईंधन की चुनौती का सामना कर रही थी, तब आपके सहयोग से हमें आम आदमी की पेट्रोल और डीजल की जरूरतों को पूरा करने में मदद मिली। इतना ही नहीं, दुनिया को यह स्वीकार करना चाहिए कि ईंधन को लेकर भारत-रूस समझौते ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में स्थिरता लाने में बड़ी भूमिका निभाई है।

'भारत शांति के पक्ष में है'

बैठक में पीएम मोदी ने कहा, "शांति बहाली के लिए भारत हर तरह से सहयोग करने को तैयार है...मैं आपको और विश्व समुदाय को आश्वस्त करता हूं कि भारत शांति के पक्ष में है। कल मेरे मित्र पुतिन को शांति के बारे में बात करते हुए सुनकर मुझे आशा मिलती है। मैं अपने मीडिया मित्रों से कहना चाहूंगा - संभव है।''

पुतिन ने किया रात्रि भोज का आयोजन

प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रपति पुतिन के साथ 22वीं भारत-रूस वार्षिक शिखर बैठक के लिए सोमवार को रूस की दो दिवसीय यात्रा पर पहुंचे हैं। पुतिन ने सोमवार रात मॉस्को के बाहरी इलाके में स्थित अपने सरकारी आवास ‘नोवो-ओगरियोवो’ पर मोदी के लिए एक निजी रात्रि भोज का आयोजन किया था। मॉस्को पहुंचने के कुछ देर बाद मोदी ने कहा था कि वह भविष्य के क्षेत्रों में द्विपक्षीय साझेदारी को गहरा करने के लिए उत्सुक हैं और भारत-रूस के बीच मजबूत रिश्तों से “हमारे लोगों को बहुत फायदा होगा।” 

बैठक में पीएम मोदी ने और क्या कहा?

पीएम मोदी ने आगे कहा कि आने वाले समय में भारत और रूस के संबंध और मजूबत होंगे. एक सच्चे दोस्त की तरह कल आपने मुझे बुलाया. पेट्रोल और डीजल को लेकर आपका सहयोग सराहनीय है. पूरी दुनिया की नजर मेरे इस यात्रा पर है. यूक्रेन पर हम दोनों ने अपने-अपने विचार रखें. युद्द के मैदान से समाधान संभव नहीं है. युद्ध मानवता के लिए एक बड़ा चुनौती है. दोनों देशों के बीच शांति बहाली के लिए भारत हर संभव सहायता के लिए तैयार है. हम दोनों साथ मिलकर काम करेंगे.

पीएम मोदी ने पुतिन के साथ बैठक में कहा कि पिछले पांज सालों में दुनिया को अनेक चुनौतियों का सामना करना पड़ा है. पहले कोविड-19 के कारण और फिर अलग-अलग संघर्षों के की वजह से कई चुनौतियां सामने आईं. भारत रूस और यूक्रेनु के बीच शांति के पक्ष में है. समस्या का समाधान शांति से ही निकल सकता है. भारत शांति के पक्ष में है. पिछले 2.5 दशकों से मेरा रूस के साथ-साथ आपके के साथ भी संबंध रहा है. करीब 10 साल में हम 17 बार मिल चुके हैं. पिछले 25 वर्षों में हमारी लगभग 22 द्विपक्षीय बैठकें हुई हैं. यह हमारे संबंधों की गहराई को दर्शाता है.

सम्मान को लेकर पुतिन से क्या बोले पीएम मोदी?

पुतिन के साथ द्विपक्षीय बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि महामहिम और मेरे दोस्त, मैं इस भव्य स्वागत और सम्मान के लिए आपका आभार व्यक्त करता हूं. भारत में चुनावों में हमें अभूतपूर्व जीत मिली. उसके बाद आपने जो शुभकामनाएं दीं, उसके लिए भी मैं आपका आभार व्यक्त करता हूं. मार्च में आपने भी शानदार प्रदर्शन किया था. चुनाव में जीत के लिए मैं एक बार फिर आपको शुभकामनाएं देता हूं.

बैठक में पुतिन ने क्या कहा?

वहीं, पुतिन ने कहा कि पीएम मोदी रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध को खत्म करवाने की कोशिश कर रहे हैं. इसके साथ-साथ पुतिन ने युद्ध को खत्म कराने के लिए भारत की ओर से की जा रही कोशिशों के लिए आभार भी जताया. उन्होंने कहा कि भारत और रूस के संबंध अच्छे हैं. भारत ने भी आतंकवाद को झेला है. इसके साथ-साथ पुतिन ने ब्रिक्स सम्मेलन में शामिल होने के लिए पीएम मोदी को न्योता दिया है.

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER