Maharashtra Politics / 400 पार के नारे से हुआ नुकसान...NCP और शिंदे ने बताया क्यों घटीं सीटें

Vikrant Shekhawat : Jun 12, 2024, 02:03 PM
Maharashtra Politics: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने मंगलवार को अपने एक कार्यक्रम में लोकसभा चुनाव में आए नतीजे पर खुलकर बात की है और उन्होंने बताया कि किस वजह से महाराष्ट्र में एनडीए की सीटें कम हुई हैं. उन्होंने बीजेपी के अबकी बार 400 पार के नारे से नुकसान की बात स्वीकार की है. हालांकि उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ करते हुए कहा है कि वह पिछले 10 सालों से लगातार कठिन मेहनत कर रहे हैं और एक भी छुट्टी नहीं ली है.

एकनाथ शिंदे ने बीजेपी के अबकी बार 400 पार नारे पर बोलते हुए कहा, ‘इस नारे को लेकर विपक्ष ने ऐसा माहौल तैयार कर दिया कि अगर मोदी सरकार 400 पार चली गई, तो वह संविधान बदल देगी. लोगों ने इसे दिमाग में रखा और सब गड़बड़ हो गया. यही हमारी महायुति के लिए भारी पड़ा. महाराष्ट्र में भी हमें नुकसान हुआ. संविधान बदल जाएगा, आरक्षण खत्म हो जाएगा… ये चर्चाएं थीं… ऐसा कुछ नहीं होना था, लेकिन ‘400 पार’ की संख्या ने सारी समस्याएं पैदा कर दीं.’

NCP अजीत गुट ने सीएम एकनाथ शिंदे के बयान का समर्थन किया. एनसीपी अजीत पवार ग्रुप के मुख्य प्रवक्ता उमेश पाटिल ने कहा कि 400 सीट का नारा देने की वजह से हारे. विपक्ष ने 400 सीट का नारा देने पर इसका गलत तरीके से दुष्प्रचार किया, जिससे दलितों में और अल्पसंख्यको में गलत मैसेज गया कि सविधान बदलने के लिए 400 सीट चाहिए और इस वजह से हार हुई. सीएम एकनाथ शिंदे ने इस बारे में सही कहा है.

बीजेपी ने जीती हैं 9 लोकसभा सीटें

महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में 23 सीटें जीती थीं, लेकिन इस बार ये घटकर मात्र 9 रह गई हैं. एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में शिवसेना ने सात सीटें जीतीं, जबकि अजित पवार की एनसीपी सिर्फ एक सीट जीत पाई. कुल मिलाकर एनडीए को राज्य की 48 सीटों में से 17 पर ही जीत मिली है. इसके विपरीत, 2014 में शिवसेना-बीजेपी गठबंधन ने 43 सीटों पर विजय पताका फहराई थी.

चुनाव नतीजों के बाद महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने चुनावी हार की जिम्मेदारी ली और पार्टी के वरिष्ठ नेतृत्व से उन्हें उनकी जिम्मेदारियों से मुक्त करने की अपील की. चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि 400 से ज्यादा सीटें मांगने के पीछे बीजेपी का असली इरादा संविधान बदलना और आरक्षण खत्म करना है. बीजेपी नेता अनंत कुमार हेगड़े सहित कई पार्टी नेताओं ने सार्वजनिक रूप से संविधान को लेकर “पुनर्विचार” करने की बात कही थी. उनका कहना था कि इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए बीजेपी को लोकसभा में 543 में से 400 सीटें हासिल करनी होंगी. हालांकि, बीजेपी नेतृत्व ने हेगड़े की टिप्पणियों से खुद को अलग कर लिया था.

सीएम शिंदे कृषि मंत्री से मिलेंगे

वहीं, फसलों के समर्थन मूल्य के मुद्दे पर शिंदे ने कहा कि भारत एक कृषि प्रधान देश है और किसान अन्नदाता है. अगर किसान नाखुश है तो कोई भी खुश नहीं रह सकता. उन्होंने कहा कि वह जल्द ही केंद्रीय कृषि मंत्री से मिलेंगे और प्याज, कपास और सोयाबीन के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग करेंगे.

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER