जयपुर / दुर्भाग्य से देश में ऐसे तुच्छ बुद्धि लोग हैं जिनको यह ज्ञान ही नहीं है कि नेहरू क्या थे: अशोक गहलोत

Dainik Bhaskar : Nov 14, 2019, 02:51 PM

जयपुर | गुरुवार को बाल दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक कार्यक्रम के दौरान मीडिया से बात की। यहां उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य से देश में ऐसे तुच्छ बुद्धि लोग हैं जिनको यह ज्ञान ही नहीं है कि नेहरू थे क्या। पंडित नेहरू एक हस्ती थे। उनकी हस्ती मिटाने वाले खुद मिट जाएंगे। नेहरू का योगदान, उनकी हस्ती,उनका कृतित्व, उनका व्यक्तित्व हमेशा अमर रहेगा।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पंडित नेहरु एक महान हस्ती थे, जिस हस्ती को देश के अंदर मिटाने का षड्यंत्र किया गया, उसकी आज धज्जियां उड़ गई है। आज जगह-जगह कार्यक्रम हो रहे हैं। आजादी की लड़ाई में पंडित नेहरू लगभग 10 साल तक जेल में बंद रहे थे। मुल्क को आजाद करवाया। देश के पहले प्रधानमंत्री बने। 17 साल तक देश में शासन किया। 

आज जिस ढांचे पर हिंदुस्तान खड़ा है, उनका बनाया हुआ है। चाहे वे बड़े-बड़े कारखाने हो आईआईटी हो या एम्स हो। आज दुनिया उनका लोहा मानती है। दुर्भाग्य से देश में ऐसे तुच्छ बुद्धि लोग हैं जिनको यह ज्ञान ही नहीं है कि नेहरू थे क्या। पंडित नेहरू एक हस्ती थे। उनकी हस्ती मिटाने वाले खुद मिट जाएंगे। नेहरू का योगदान, उनकी हस्ती,उनका कृतित्व, उनका व्यक्तित्व हमेशा अमर रहेगा।

हमने राजस्थान में बाल साहित्य एकेडमी की घोषणा की है। पं. नेहरू के बारे में नई पीढ़ी को जानकारी देना आवश्यक है ताकि आने वाली पीढ़ियां इतिहास को सही परिप्रेक्ष्य में समझ सके,आत्मसात कर सके वरना अगर इतिहास को तोड़ोगे-मरोड़ोगे तो भविष्य में देश की क्या तस्वीर बनेगी कोई सोच नहीं सकता।

उन्होंने कहा कि खाली प्रधानमंत्री जी की बात नहीं है पूरी बीजेपी, पूरा RSS को मालूम है कि जब हम पंडित नेहरू पर प्रहार करेंगे तो जो लीगेसी देश के अंदर बनी है कांग्रेस की उस पर प्रहार होगा। कांग्रेस को कमजोर करने के लिए, कांग्रेस मुक्त भारत बनाएंगे यह कहने वाले वही लोग हैं जो चाहते हैं कि देश के लोकतंत्र समाप्त हो जाए। इसलिए वह बार-बार यह बात करते हैं। आज भय का माहौल बन चुका है। हमारा अभियान चल पड़ा है प्रदेश कांग्रेस कमेटी के माध्यम से जिला कांग्रेस कमेटी के माध्यम से ब्लॉक के माध्यम से जो इनको एक्सपोज करने का काम करेगा, मैं समझता हूं कि यह बहुत आवश्यक है वरना पता नहीं देश किस दिशा में जाएगा। 

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER