देश / जब संसद में दिग्विजय को सिंधिया ने हाथ जोड़कर कहा- आपका ही आशीर्वाद है

Zoom News : Feb 04, 2021, 02:37 PM
नई दिल्ली | राज्यसभा में आज यानी गुरुवार को विभिन्न विपक्षी दलों ने तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के चल रहे विरोध प्रदर्शन के मुद्दे पर सरकार पर हमला बोलते हुए मौजूदा आंदोलन से निपटने के तरीके पर सवाल उठाया। हालांकि, इस दौरान राज्यसभा में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया में एक गजब सी जुगलबंदी देखने को मिली। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मोदी सरकार का पक्ष रख कांग्रेस को घेरा, मगर जब दिग्विजय सिंह की बोलने की बारी आई तो उनकी बातें ऐसी थीं कि पूरा सदन ही ठहाकों से गूंजने लगा। 

दरअसल, जब भारतीय जनता पार्टी के सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद कांग्रेस सांसद दिग्विजय सिंह बोलने के लिए खड़े हुए तो उन्होंने सबसे पहले कहा, 'सभापति महोदय! मैं आपके माध्यम से सिंधिया जी को बधाई देना चाहता हूं, जितने अच्छे ढंग से वे यूपीए सरकार में सरकार का पक्ष रखते थे उतने ही अच्छे ढंग से आज उन्होंने भाजपा का पक्ष रखा है। आपको बधाई हो, वाह जी महाराज वाह, वाह जी महाराज वाह!'

दिग्विजय सिंह की इस बात पर मुस्कुराते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने हाथ जोड़ लिए और जब दिग्जविजय सिंह की बात खत्म हुई तो ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, 'सब आपका ही आशीर्वाद है।' इसके बाद राज्यसभा में ठहाके गूंजने लगे। इतना ही नहीं, खुद दिग्विजय सिंह भी मुस्कुराने लगे। ज्योतिरादित्य सिंधिया की यह बात सुन दिग्विजय सिंह ने तुरंत कहा- 'हमेशा रहेगा, आप जिस पार्टी में रहें, आगे भी जो हो, हमारा आशीर्वाद आपके साथ था, है और रहेगा।'

सिंधिया ने कैसे किया सरकार का बचाव

भाजपा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने नए कृषि कानूनों का बचाव करते हुए कहा कि किसान देश के लिए रीढ़ की हड्डी और अन्नदाता हैं और वे अपना ही नहीं पूरे विश्व का पेट भरते हैं। उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानून इसलिए लाए गए ताकि उनकी प्रगति हो सके। उन्होंने कहा कि देश को राजनीतिक आजादी करीब 70 साल पहले मिल गयी थी लेकिन किसानों को उनकी वास्तविक आजादी नहीं मिल पायी। भाजपा नेता ने कहा कि नए कृषि कानूनों से किसानों को आजादी मिल सकेगी और वे देश भर में कहीं भी अपनी उपज बेच सकेंगे जिससे उनकी आय भी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ 11 बार संवाद हुआ है और सरकार ने 18 महीने कानून स्थगित करने की भी बात की है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार किसानों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है।

सिंधिया का कांग्रेस पर हमला

उन्होंने इस क्रम में कांग्रेस पर हमला बोला और कहा कि पार्टी ने 2019 में अपने चुनावी घोषणा पत्र में कृषि सुधारों का वायदा किया था। इसके अलावा राकांपा नेता और तत्कालीन संप्रग सरकार में कृषि मंत्री शरद पवार ने 2010-11 में हर राज्यों के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कृषि क्षेत्र में निजी क्षेत्र की भागीदारी को अनिवार्य बनाने संबंधी बात की थी। सिंधिया ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, 'जुबान बदलने की आदत बदलनी होगी... जो कहें, उस पर अडिग रहें।'

कोरोना पर भी कांग्रेस को घेरा

भाजपा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण पिछला साल काफी चुनौतीपूर्ण रहा लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार द्वारा समय से उठाए गए कदमों से स्थिति में काफी सुधार हुआ। उन्होंने कहा कि महामारी से मुकाबला करने के लिए प्रधानमंत्री ने सभी प्रयासों को एक ही मुट्ठी में बांधा और युद्धस्तर पर नीति तैयार की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने कोविड-19 महामारी के खिलाफ न सिर्फ भारत में बल्कि साझा विश्व अभियान का भी नेतृत्व किया। उन्होंने कहा कि समय से उठाए गए कदमों के कारण भारत मामारी के दूसरे चरण से बच गया और लाखों जानें बच सकीं। महामारी पर काबू पाने के लिए लगाए गए लॉकडाउन की चर्चा करते हुए भाजपा नेता ने कहा कि 60 दिनों के अंदर भारत ने महत्वपूर्ण कामयाबी हासिल की और पीपीई किट का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक बन गया तथा साल भर के अंदर देशी टीका तैयार कर लिया गया।

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER