Viral News / महिलाओं को एक से अधिक पति रखने का मिलेगा हक, इस देश में मचा बवाल

Zoom News : Jun 29, 2021, 03:46 PM
दक्षिण अफ्रीकी सरकार अपने एक विवादास्पद प्रस्ताव के चलते सुर्खियों में है। इस प्रस्ताव के अनुसार, महिलाएं एक से ज्यादा पति रख सकती हैं। इस देश में पुरूषों के लिए पहले से ही एक से ज्यादा शादी करने की व्यवस्था है और अब ऐसा ही कुछ सरकार महिलाओं के लिए करना चाहती है। हालांकि इस फैसले को लेकर दक्षिण अफ्रीका के रुढ़िवादी संगठन नाराज हैं। जाने-माने बिजनेसमैन और टीवी की लोकप्रिय हस्ती मूसा मसेलेकु इस प्रस्ताव के विरोध में खड़े हो गए हैं। उन्होंने कहा है कि इस प्रस्ताव के कानून बनने पर दक्षिण अफ्रीका की संस्कृति खत्म हो जाएगी।

मूसा का इस मामले में कहना है कि महिलाएं कभी पुरुषों की जगह नहीं ले सकतीं हैं। उन्होंने इसके अलावा ये भी पूछा कि इस कानून के पास होने के बाद क्या महिलाएं पुरुषों के लिए लोबोला देंगी?  बता दें कि लोबोला को अफ्रीकी कल्चर में दुल्हन की कीमत कहा जाता है जिसे मर्दों द्वारा दिया जाता है। 

मूसा ने ये भी पूछा कि आखिर इस तरह के रिश्तों में बच्चों के क्या हालात होंगे। उन्होंने कहा कि पुरुष अगर एक से ज्यादा शादियां करता है तो ये एक प्रचलित प्रथा है लेकिन अगर महिला एक से ज्यादा शादियां करती हैं तो पुरुष इसे झेल नहीं पाएंगे क्योंकि वे बहुत ज्यादा ईर्ष्यालु होते हैं और समाज बिखर जाएगा।

रियैल्टी टीवी स्टार मूसा की हालांकि खुद चार बीवियां हैं लेकिन उन्हें महिलाओं के लिए एक से ज्यादा शादी के कानून को लेकर परेशानी है। गौरतलब है कि इस प्रस्ताव को दक्षिण अफ्रीका के गृह विभाग ने दिया है और इसे ग्रीन पेपर में शामिल करने की डिमांड की गई है। 

इंडीपेंडेंट की रिपोर्ट का कहना है कि इस मामले में अफ्रीकन क्रिश्चन डेमोक्रेटिक पार्टी के लीडर केनेथ मेसोहो ने भी कहा कि इससे समाज नष्ट हो जाएगा। वही इसे लेकर प्रोफेसर कोलिस मेकोको का बयान भी काफी दिलचस्प था। उन्होंने कहा कि अफ्रीकी समाज सही मायनों में समानता के लिए तैयार नहीं है। हमें नहीं पता कि हम ऐसी महिलाओं के साथ कैसे डील करेंगे जिन्हें हम कंट्रोल नहीं कर सकते है।(

गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका के पड़ोसी देश जिम्बाब्वे में पहले से ही महिलाओं के एक से अधिक पति रखने का चलन है। प्रोफेसर कॉलिन्स इस पर रिसर्च भी कर चुके हैं। उन्होंने बीबीसी के साथ बातचीत में बताया कि इस तरह की शादियां आमतौर पर महिलाएं ही पहल करती हैं।

बता दें कि दक्षिण अफ्रीका का संविधान दुनिया के सबसे प्रोग्रेसिव संविधानों में से है। यहां समलैंगिक विवाह को भी मान्यता मिली है और ट्रांसजेंडर्स को भी पूरे अधिकार मिलते हैं।

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER