राजस्थान / कोटा में 2 और बच्चों की मौत, 106 पहुंचा आंकड़ा

News18 : Jan 04, 2020, 10:16 AM
कोटा। राजस्थान (Rajasthan) के कोटा (Kota) शहर के जेके लोन अस्पताल (JK Lon Hospital) में बच्चों की मौतों (Children Death) का सिलसिला थम नहीं रहा है। शुक्रवार को अस्पताल में भर्ती दो और बच्चों की मौत हो गई, जिसके बाद बच्चों की मौत का आंकड़ा बढ़कर 106 पहुंच गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग की एक टीम शनिवार को कोटा जाकर जेके लोन अस्पताल का दौरा कर बच्चों की मौत की जांच करेगी। इस टीम में एम्स जोधपुर और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी शामिल हैं। केंद्रीय टीम इस संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन को रिपोर्ट सौंपेगी।

इसके अलावा राज्य के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) भी शनिवार को जेके लोन अस्पताल का दौरा करेंगे। जानकारी के मुताबिक पायलट कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को इस पर एक रिपोर्ट सौंपेंगे। बता दें कि कोटा के अस्पताल में सैकड़ों बच्चों की मौत का मामला सामने आने से सोनिया गांधी नाराज हैं।

मानवाधिकार आयोग ने कही ये बात

बच्चों की लगातार हो रही मौत पर मचे बवाल के बाद राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर स्वत: संज्ञान (Suo Moto) लिया है। आयोग ने राज्य सरकार (Rajasthan Government) को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में इस पर रिपोर्ट मांगी है। आयोग ने राज्य के मुख्य सचिव को नोटिस जारी कर पूछा है कि बच्चों की मौत रोकने के लिए क्या कदम उठाए गए हैं? इस तरह की घटनाएं भविष्य में ना हो इसके लिए आयोग ने अस्पतालों में व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने को भी कहा है।

आयोग ने कहा है कि अगर मीडिया में आई खबरें सही हैं तो यह मानवाधिकारों का गंभीर उल्लंघन है और बच्चों की इस तरह दर्दनाक मौत आयोग के लिए गंभीर विषय है। आयोग ने कहा है कि नागरिकों को बुनियादी चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाना राज्य सरकार का कर्तव्य है और सरकार इसके लिए बाध्य है।

मंत्रियों के सामने जमकर हुआ हंगामा

इससे पहले, शुक्रवार को राज्य के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ। रघु शर्मा और कोटा के प्रभारी परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास जेके लोन अस्पताल पहुंचे थे। इस दौरान वहां जमकर हंगामा हुआ था। इन दोनों मंत्रियों को बीजेपी कार्यकर्ताओं के विरोध और गुस्से का सामना करना पड़ा था। मंत्रियों के विरोध को देखते हुए पुलिस ने तत्काल प्रदर्शनकारियों को लाठियां दिखाते हुए वहां से हटाया। दूसरी तरफ अपने नेताओं के खिलाफ नारेबाजी सुनकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी बीजेपी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बाद में पुलिस ने बीच-बचाव कर पूरा मामला शांत करवाया।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER