जयपुर में आमागढ़ विवाद गहराया / ऐतिहासिक आमागढ़ किले पर जबरन बीजेपी सांसद ने फहराया भगवा झंडा, हुए गिरफ्तार

Zoom News : Aug 01, 2021, 12:26 PM
आमागढ़ प्रकरण में जयपुर पुलिस एक बार फिर से गच्चा खा गई। पुलिस की चाकचौबंद निगरानी और इंटेलीजेंस को चकमा देकर भाजपा के राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा अपने समर्थकों के साथ आधी रात को आमागढ़ पहाड़ी पर पहुंचे और सुबह होते ही मीणा समाज का झंडा फहरा दिया। रविवार तड़के डॉ. किरोड़ीलाल मीणा के आमागढ़ पहुंचने की खबर जब पुलिस को लगी तो आनन-फानन में ईस्ट जिले के ACP नीलकमल मीणा व अन्य अफसर अमले को लेकर पहाड़ी पर पहुंचे। वहां समझाइश देकर डॉ. किरोड़ीलाल मीणा को आमागढ़ से नीचे लेकर आए। इसके बाद उनको गिरफ्तार कर पुलिस विद्याधर नगर थाने ले गई।


एक दिन पहले डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने कहा था- हर हाल में आमागढ़ पहुंचकर झंडा लगाऊंगा

मामले में शनिवार को ही डॉ. किरोड़ीलाल मीणा का शनिवार को बयान आया था कि वे रविवार को हर हाल में आमागढ़ किले पर पहुंचकर पूजा-अर्चना करेंगे। वे समाज के लिए गोली और लाठी खाने को तैयार हैं। आमागढ़ पर मीणा समाज की पताका भी फहराई जाएगी। किरोड़ीलाल के बयान के बाद पुलिस ने निगरानी और ज्यादा बढ़ा दी थी। पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। फ्लैग मार्च भी निकाला। फिर भी किरोड़ीलाल मीणा अपने समर्थकों के साथ मीणा समाज के झंडे लेकर आधी रात को ही दूसरे रास्ते से आमागढ़ किले पर चढ़ गए। वहां रविवार तड़के सूर्योदय के साथ ही किले पर झंडा लहरा दिया।


आमागढ़ में आवाजाही रोकने के लिए ड्रोन से बढ़ाई थी निगरानी

आपको बता दें कि जयपुर पुलिस कमिश्नरेट का कहना था कि आमागढ़ किले पर किसी भी व्यक्ति को अनधिकृत रूप से प्रवेश की अनुमति नहीं है। इसके लिए ड्रोन कैमरों से निगरानी रखी जा रही है। पूरे क्षेत्र में वज्र, अग्निवर्षा, QRT, STF फोर्स तैनात रहेंगी, जो व्यक्ति कानून को तोड़कर आमागढ़ में प्रवेश की कोशिश करेगा। उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


अगर पुलिस ने किरोड़ीलाल को हिरासत में रखा तो आंदोलन करेंगे

इस पूरे मामले के बाद गंगापुर सिटी से कांग्रेस समर्थित निर्दलीय विधायक रामकेश मीणा के तेवर ठंडे पड़ते नजर आए। विधायक रामकेश मीणा ने कहा कि किरोड़ीलाल के झंडा फहराने से उनको कोई आपत्ति नहीं है। विधायक रामकेश ने कहा हमने कहा था कि आमागढ़ में हिंदू संगठन भगवा झंडा फहराने का एलान कर रहे है। अगर दोबारा भगवा फहराया जाता है तो हम विरोध करेंगे। अब रामकेश का कहना है कि किरोड़ीलाल ने मीणा समाज का झंडा फहराया है। वह स्थान भी मीणा समाज का है। रामकेश ने चेतावनी देते हुए कहा कि सांसद किरोड़ी लाल को जल्द ही रिहा नहीं किया तो वे आज पुलिस के खिलाफ आंदोलन करेंगे।


दो महीने पहले शिव मंदिर की मूर्तियां तोड़ने व भगवा ध्वज को फाड़ने से शुरु हुआ विवाद

4 जून को आमागढ़ किले पर बने बरसों पुराने शिव मंदिर की मूर्तियों को तोड़ने से आमागढ़ विवाद शुरु हुआ था। 6 जून की सुबह विश्व हिंदू परिषद के महानगर प्रमुख और धरोहर बचाओ समिति के संरक्षक भारत शर्मा ने आमागढ़ पहुंचकर मंदिर का जायजा लिया था। इसके बाद ट्रांसपोर्ट नगर थाने में केस दर्ज करवाया गया। तब पुलिस ने छह जनों को मूर्तियां तोड़कर धार्मिक भावनाएं भड़काने के मामले में गिरफ्तार किया था। इसके बाद गलता पीठाधीश्वर की मौजूदगी में 14 जून को शिव मंदिर में मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा करवाई गई। इस बीच स्थानीय लोगों की सहमति पर किले पर भगवा ध्वज भी फहरा दिया।


21 जुलाई को विधायक रामकेश मीणा की मौजूदगी में भगवा ध्वज को फाड़कर उतारा

इसके बाद 21 जुलाई को गंगापुर सिटी के निर्दलीय विधायक रामकेश मीणा अपने समर्थकों के साथ आमागढ़ पहाड़ी पर पहुंचे। उन्होंने जगह मीणा समाज की बताकर हिंदू संगठनों पर कब्जा करने का आरोप लगाया। विधायक रामकेश की मौजूदगी में किले पर फहराया गया भगवा ध्वज फाड़कर उतार दिया गया। वहां तोड़फोड़ की गई। इस संबंध में 22 व 23 जुलाई को विधायक रामकेश व हिंदू संगठनों की तरफ से एक दूसरे के खिलाफ ट्रांसपोर्ट नगर थाने में मुकदमा दर्ज करवाया गया। इससे विवाद और गहरा गया। फिर चार दिन पहले जयपुर पुलिस कमिश्नरेट ने शांति की अपील के साथ कहा कि आमागढ़ का पूरा क्षेत्र वन विभाग का है। वहां आमजन के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी है। साथ ही कहा कि 1 अगस्त को जमावड़ा किया तो सख्ती से निपटेंगे।


29 जुलाई को मुख्य सचिव से मिलकर किरोड़ीलाल भी आमागढ़ प्रकरण में कूदे

29 जुलाई को भाजपा सांसद व मीणा समाज के दिग्गज नेता डॉ. किरोड़ीलाल मीणा आमागढ़ प्रकरण को लेकर सचिवालय पहुंच गए। वहां मुख्य सचिव को ज्ञापन देकर वहां दोबारा मीणा समाज का झंडा लगाने और मंदिर में पूजा से पाबंदी हटाने की मांग की। किरोड़ीलाल ने मीणा समाज के हिंदू होने का बयान दिया। फिर 30 जुलाई को युवा आक्रोश रैली निकाली। जिसमें 1 अगस्त को आमागढ़ पहाड़ी पर पहुंचकर मीणा समाज का झंडा फहराने की बात कही।


दूसरी तरफ, विधायक रामकेश मीणा का बयान सामने आया कि वे भी 1 अगस्त को आमागढ़ पहुंचेंगे। वहां हिंदू संगठनों ने भगवा फहराया तो उसका विरोध करेंगे। इनके बीच जयपुर पुलिस ने आमागढ़ किले पर पहुंचने वाले सभी रास्तों पर निगरानी बढ़ाते हुए पुलिस के जवान तैनात कर दिए। इसके बावजूद चकमा देकर किरोड़ीलाल मीणा ने आमागढ़ पहाड़ी पर मीणा समाज का झंडा फहरा दिया।

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER