नई दिल्ली / दफ्तर में दिल्ली वालों का सबसे ज्यादा मचलता है 'मन'

AajTak : Nov 17, 2019, 10:56 AM

नई दिल्ली | सेक्स के बारे में आखिर भारतीय क्या सोचते हैं? भारतीयों के यौन व्यवहार में कितना बदलाव आया है, इसे समझने के लिए ही हर साल की तरह इस साल भी सेक्स सर्वे कराया। साल 2019 के सर्वे में कई तरह के सवाल पूछे गए। सर्वे में लोगों से एक सवाल पूछा गया था कि क्या उन्होंने कभी ऑफिस में सेक्स किया है? आइए जानते हैं इस सवाल के जवाब में लोगों की प्रतिक्रिया कैसी थी।

देश की राजधानी दिल्ली में सबसे ज्यादा लोगों 27.6 फीसदी लोगों का कहना था कि 'हां' वे ऑफिस परिसर में शारीरिक संबंध बना चुके हैं। सर्वे के मुताबिक, इस सवाल का 'हां' में जवाब देने वालों में दिल्लीवासी सबसे ऊपर हैं।

दिल्ली के बाद इस मामले में रांची का नाम आता है। रांची में 19.5 फीसदी लोगों ने भी इस सवाल का जवाब 'हां' में ही दिया है।

दिल्ली से सटे गुरुग्राम और नोएडा की तरफ दूसरे राज्यों की आबादी तेजी से रुख कर रही है। रोजगार की तलाश में यहां आए लोगों से भी यही सवाल किया गया। हालांकि इस सवाल के जवाब में सभी लोग एकमत नजर आए।

गुरुग्राम और नोएडा में काम करने वाले 100 फीसदी लोगों का कहना है कि उन्होंने कभी ऑफिस में सेक्स नहीं किया है। बता दें कि दिल्ली-एनसीआर के इन दोनों ही इलाकों में बड़े पैमाने पर इंडस्ट्रीज हैं।

वहीं, इंदौर (मध्य प्रदेश) के 99% लोगों ने भी इसका जवाब 'ना' में दिया। इस सवाल के जवाब में भुवनेश्वर (99।5%), चंडीगढ़ (99%) और कोलकाता (99।2%) के लोगों ने भी 'नहीं' जवाब दिया।

सर्वे  से ये भी पता चला कि बड़ी संख्या में भारतीय ऑफिस में सेक्स करने की चाहत रखते हैं। लोगों से सवाल किया गया कि क्या वे दफ्तर में सेक्स के बारे में सोचते हैं? उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 48 फीसदी लोगों ने हां में जवाब दिया।

वहीं, चेन्नई जैसे शहर में भी 42 फीसदी लोगों ने इस सवाल के जवाब में हां में जवाब दिया। जबकि गुरुग्राम में 43।7 प्रतिशत लोगों का भी कुछ ऐसा ही सोचना था।

पिछले साल के सर्वे में जब लोगों से पूछा गया कि क्या वे ऑफिस में किसी सहकर्मी के साथ संबंध बनाने को सही मानते हैं तो इसके जवाब में केवल 44 फीसदी ने हां में जवाब दिया था जबकि 56 फीसदी लोगों ने इसे नकार दिया था।

मुंबई के टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस के समाजशास्त्री अनाघा सरपोतदार का भी कहना है कि अब ऑफिस में औपचारिकताएं खत्म हो रहीं हैं और लोगों के बीच अंतरंगता बढ़ती जा रही है।

अनाघा सरपोतदार के अनुसार, इंटरनेट के बढ़ते उपयोग की वजह से भी लोग अब ऑफिस में अपनी सीमाएं लांघने लगे हैं। ऑफिस प्राइवेट स्पेस और प्राइवेट स्पेस दफ्तर बनते जा रहे हैं।

सर्वे की मानें तो भारतीय हर मामले में भले ही कितने आगे बढ़ गए हों लेकिन वर्जिनिटी पर अब भी पुरानी सोच ही रखते हैं। इंडिया टुडे सेक्स सर्वे 2019 के मुताबिक, भारत में 53 फीसदी लोग अपने पार्टनर की वर्जिनिटी को बहुत गंभीरता से लेते हैं।