वाराणसी में दर्दनाक हादसा / साड़ी फिनिशिंग के कारखाने में लगी भीषण आग, पिता-पुत्र समेत चार की मौत, सीएम योगी ने जताया शोक

Zoom News : Apr 14, 2022, 04:23 PM
वाराणसी के भेलूपुर थाना क्षेत्र के अशफाक नगर कॉलोनी में स्थित साड़ी फिनिशिंग कारखाने में शॉर्ट सर्किट से लगी आग की जद में आकर पिता-पुत्र समेत चार लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने तत्परता दिखाते हुए फायर ब्रिगेड के पहुंचने से पहले आग पर काबू पा लिया नहीं तो हादसा और बड़ा हो सकता था।

बीते हफ्ते सिगरा स्थित अन्नपूर्णा ग्रैंड्योर अपार्टमेंट में लगी भीषण आग मामले की जांच चल ही रही थी कि आज कमच्छा इलाके में उससे भी बड़ी और दर्दनाक घटना घट गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस हादसे पर शोक जताया है। 

साड़ी फिनिशिंग कारखाने में लगी आग

हादसे की सूचना के बाद मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा कि मदनपुरा निवासी एक व्यक्ति अशफाक नगर स्थित एक मकान के कमरे में साड़ी फिनिशिंग का कार्य करता था। गुरुवार दोपहर पौने 12 बजे के करीब संभवतः खाना बनाते वक्त आग लग गई।

12 फुट × 10 फुट के कमरे में साड़ी, फोम, फिनिशिंग सामग्री रखी थी जो सिंथेटिक की थी और जिससे आग कमरे में तेजी से फैल गई। आग रोकने के प्रयास में चार व्यक्ति कमरे से निकल नहीं पाए। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और चारों उसी कमरे में फंसे रह गए जिससे उनकी मौत हो गई। 

स्थानीय लोगों ने  संकरी गली में स्थित कमरे में पानी डाल कर आग बुझाई और गैस सिलिंडर को बाहर सुरक्षित निकाल लिया। आग किसी और घर में नहीं पहुंची। संकरी गली में आमने-सामने कई घर हैं। कमरे में मौजूद चारों व्यक्तियों की मौत आग बुझने से पहले ही हो गई थी।

इस दर्दनाक हादसे में मदनपुरा निवासी 45 वर्ष के एक व्यक्ति, उनका 22 वर्ष का पुत्र, अररिया (बिहार) निवासी दो मजूदर की मौत हुई है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है। मृतकों के आश्रित को आपदा राहत के अंतर्गत समुचित मुआवजा सहायता दी जाएगी। 

सीएम योगी ने जताया शोक, मुआवजे की घोषणा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अशफाक नगर हादसे में हुए जनहानि पर शोक जताया है। उन्होंने मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। साथ ही राज्य आपदा निधि से प्रत्येक मृतक के परिजन को चार लाख रुपये राहत राशि देने का निर्देश दिया है।

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER