एजुकेशन / पंडित जसराज पहले भारतीय संगीतकार बने जिनके नाम पर रखा गया क्षुद्रग्रह का नाम

AMAR UJALA : Oct 01, 2019, 05:43 PM

हमारे सौरमंडल में एक ग्रह को महान भारतीय शास्त्रीय गायक पंडित जसराज का नाम दिया गया है। इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन (IAU) ने इस ग्रह का नाम 'पंडित जसराज' रखा है। पूरे देश के लिए यह बड़े सम्मान की बात है। नासा ने इस ग्रह की स्थिति दर्शाता हुआ एक ग्राफिक भी जारी किया है।

सौरमंडल में यह ग्रह कहां स्थित है? इसे पंडित जसराज का नाम ही क्यों दिया गया? कब हुई थी इसकी खोज? इन सभी सवालों के जवाब हम आगे की स्लाइड्स में बता रहे हैं।

IAU ने यह जानकारी 23 सितंबर 2019 को आधिकारिक तौर पर जारी की है। साथ ही नासा द्वारा जारी ग्राफिक्स के बारे में बताया। इसमें लिखा है 'संगीत को समर्पित जीवन' सच है... और पंडित जसराज के मामले में यह इससे कहीं ज्यादा है।' यह सम्मान पाने वाले पंडित जसराज भारत के पहले संगीतज्ञ हैं। 

आगे पढ़ें, कहां स्थित है यह ग्रह और कब हुई थी इसकी खोज? आगे हम आपको नासा की वो ग्राफिक भी दिखा रहे हैं।

यह ग्रह सौरमंडल में मंगल (Mars) और बृहस्पति (Jupiter) ग्रहों के बीच स्थित है।

इसकी खोज 11 नवंबर 2006 को की गई थी।

तब इसे एक नाम '2006 VP32' और नंबर '300128' दिया गया था।

किसी ग्रह को नाम देने के कई नियम हैं। पद्म विभूषण से सम्मानित पंडित जसराज के मामले में जो कारण सबसे रोचक है, वो यहां समझें -

इस ग्रह को जो नंबर दिया गया था, वह 300128 है। इसे अगर पलटा जाए, तो ये 280130 बन जाता है। यानी 28-01-30, जो पंडित जसराज की जन्म तिथि भी है।

जिस ग्रह को पंडित जसराज का नाम दिया गया है, वो एक Minor Planet है। आगे पढ़ें, क्या होता है माइनर प्लैनेट?

माइनर प्लैनेट वो खगोलीय वस्तु हैं जो अन्य ग्रहों की तरह सूर्य का चक्कर लगाते हैं। लेकिन इनका आकार छोटा होता है। लेकिन इनकी गुरुत्वाकर्षण शक्ति (Gravity) ज्यादा नहीं होती।