जयपुर / हनुमान पर हुए हमले का हिसाब मांगेगी संसद, मोदी के सामने उठा मामला

Zoom News : Nov 17, 2019, 06:57 PM

जयपुर. एनडीए की बैठक में आरएलपी के सुप्रीमो नागौर सांसद हनुमान बेनिवाल और मंत्री कैलाश चौधरी पर बायतु में हुए हमले का प्रकरण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के सामने उठा है। संसद के शीतकालीन सत्र से पहले हुई एनडीए की घटक दलों की बैठक में यह प्रकरण प्रमुखता से उठा है। माना जा रहा है कि अब मोदी सरकार और गहलोत सरकार के बीच इस मुद्दे को लेकर गंभीर संवाद हो सकता है और राजस्थान की राजनीति में एक नया समीकरण बन सकता है। यह भी माना जा रहा है कि प्रदेश के दो सांसदों, जिनमें से एक केंन्द्रीय राज्यमंत्री हैं और दूसरे एनडीए के घटक दल के मुखिया पर हमले को आधार बनाकर बीजेपी राजस्थान की कांग्रेस सरकार को घेरने की कोशिश करेगी। संभव है कि शीतकालीन सत्र में विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव भी लाया जाए। 

राजस्थान सरकार के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी और हनुमान बेनिवाल के बीच की रार अब दिल्ली तक पहुंच गई है। एनडीए की बैठक में हनुमान बेनिवाल ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार की शह पर हमला करने का आरोप लगाया है। माना जा रहा है कि बेनिवाल संसद में राजस्थान पुलिस के महानिदेशक और बाड़मेर पुलिस अधीक्षक के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव ला सकते हैं।


गौरतलब है कि बाड़मेर जिले के बायतु उपखंड मुख्यालय पर 12 नवम्बर की रात वीर तेजाजी और खेमाबाबा की जागरण में भाग लेने जा रहे रालोपा संयोजक व नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल और केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी के काफिले पर बायतु में अज्ञात लोगों ने पत्थरबाजी की थी। इससे पूर्व बाड़मेर में पत्रकार वार्ता के दौरान हनुमान बेनीवाल ने राजस्व मंत्री हरीश चौधरी पर टिप्पणी की और इसके वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सोशल मीडिया पर टिप्पणी करना शुरू कर दिया तथा बायतु में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बैठक बुलाई। उसके बाद करीबन सौ लोग हनुमान बेनीवाल का विरोध करने फलसूंड चौराहे पर पहुंचे। करीब आधा घंटे तक वहां नारेबाजी करते रहे।  रात 12 बजे जैसे ही हनुमान बेनीवाल का काफिला बायतु पहुंचा तो काफिले पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। पुलिस मोर्चा संभालने में विफल रही। बेनीवाल केन्द्रीय मंत्री कैलाश चौधरी की गाड़ी मे बैठे थे। पत्थरबाजी से गाड़ी के शीशे टूट गए। इसके बाद पुलिस ने भीड़ को खदेड़ दिया। बेनीवाल ने कहा था कि मैं भी इनकी तरह कर सकता हूं लेकिन यहां सभी मेरे अपने है, इसलिए मैं ऐसा नहीं कर रहा हूं। बेनीवाल व केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया कि उन्होंने गाड़ी पर पत्थर बाजी की है।

राजस्व मंत्री पर बरसे बेनीवाल

बाद में सभा में सम्बोधित करते हुए बेनिवाल ने खींवसर चुनाव के प्रभारी रहे राजस्व मंत्री हरीश चौधरी पर नागौर सांसद ने जमकर हमला किया। आरएलपी संयोजक हनुमान बेनीवाल ने कहा कि राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने खींवसर विधानसभा चुनाव में जिन-जिन बूथों पर प्रचार किया वहां 3, 13 और 23 से ज्यादा वोट नहीं मिले। मंत्री के बारे में जनता जानती है, उन्होंने किस तरह से पंजाब में टिकट की खरीद-फरोख्त की थी। सांसद और आरएलपी संयोजक हनुमान बेनीवाल ने कहा कि विधानसभा चुनावों में बाड़मेर के युवाओं और जनता का अच्छा सहयोग मिला। लोकसभा चुनाव में आरएलपी के गठबंधन से बीजेपी को बाड़मेर में ही नहीं बल्कि प्रदेश में मिशन 25 को पूरा करने में सफलता मिली। जब से आरएलपी-बीजेपी गठबंधन ने जोधपुर में गहलोत के बेटे को हराया है, तब से गहलोत और राजस्व मंत्री हरीश चौधरी बायतु की जनता के साथ अत्याचार करने पर उतर आए हैं। 

बाड़मेर के मंत्री खुद की जेब भरने में लगे

बेनीवाल ने आरोप लगाया कि बाड़मेर में तेल-गैस, लिग्नाइट में स्थानीय युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है। यहां के मंत्री और अन्य नेता सिर्फ अपनी जेब भरने में लगे है। उन्हें जनता के हितों को लेकर लड़ने के लिए समय नहीं है। स्थानीय नेताओं के लोग गुंडागर्दी पर उतर आए है। बेनीवाल हर निर्दोष के साथ अन्याय होने पर साथ खड़ा रहेगा।