देश / मजदूरों ने राहुल गांधी से कहा- कोरोना से नहीं भूख से डर लगता है, हमारी कोई इज्जत नहीं

News18 : May 23, 2020, 10:09 AM

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) मजदूरों से जुड़ी एक डॉक्यूमेंट्री जारी की। राहुल द्वारा जारी की गई डॉक्यूमेंट्री में देखा जा सकता है कि वह मजदूरों से पूछते दिख रहे हैं कि उनके पास पैसा है या नहीं। उन्हें कैसे पता चला कि लॉकडाउन के बारे में कैसे पता चला।

राहुल ने जिन मजदूरों से बात की वह यूपी स्थित झांसी के निवासी हैं। पूरा परिवार ही झांसी के लिए निकल पड़े। वे हरियाणा की एक फैक्ट्री में काम करते थे। राहुल से बातचीत में मजदूरों ने बताया कि उन्हें एक पैसे की मदद नहीं मिली।

मजदूरों ने बताया कि घर से बाहर निकलना गुनाह हो गया था। पुलिस तो पुलिस, स्थानीय लोग भी बाहर निकलने पर मारते थे, पुलिस वाले दो टाइम आते थे और वह पूरा दिन रहते थे।

राहुल से कहा- हमको गांव पहुंचा दीजिए।।।।

एक महिला ने भावुक होते हुए राहुल से कहा कि गांव पहुंचा दीजिए हम लोगों को। हम लोगों को वापस हरियाणा मत पहुंचाना। हमको गांव जाना है।

मजदूरों ने बताया कि हरियाणा में जहां रहते थे वहां 5-5 हजार रुपए का सामना छूट गया। अब तो वो वापस आने से रहा।

राहुल की मांग 13 करोड़ परिवारों को 7, 500 रुपए दे सरकार

राहुल ने पूछा कि सरकार अगर मदद कर सके तो उसे क्या करनी चाहिए, आप सुझाव दें। इस पर लोगों ने कहा कि जो लोग गांव जाना चाहें उन्हें गांव जाने दिया जाए। साथ ही रोजगार शुरू हो जाए। वीडियो में राहुल ने मांग की है कि श्रमिकों के साथ न्याय हो। सरका तुरंत उनके लिए सीधा कैश ट्रान्सफर करे। 13 करोड़ परिवार को 7500 रुपए दे।

इस वीडियो के आखिर में राहुल ने कहा कि मेरे प्रवासी श्रमिक भाई बहनों, आप इस देश की शक्ति हो। हिन्दुस्तान की शक्ति को सक्षम बनाना हमारा कर्तव्य है। कहा कि पूरा देश आपके साथ न्याय हो।

इस बाबत राहुल ने ट्वीट किया था कि - 'कुछ दिन पहले, इन मजदूर भाई-बहनों से भेंट हुई जो हरियाणा से सैकड़ों किमी दूर यूपी के झांसी  में अपने गाँव पैदल ही जा रहे थे। आज सुबह 9 बजे इनके धैर्य, दृढ़ संकल्प और आत्मनिर्भरता की अविश्वसनीय कहानी मेरे YouTube चैनल पर देखिए। 'विपक्षी दलों की बैठक में उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र को राज्य सरकरों की मदद करनी चाहिए.

इससे पहले  शुक्रवार रात भी राहुल ने ट्वीट किया था । राहुल ने लिखा था कि 'कुछ दिनों पहले, मैं हरियाणा में अपने कार्य स्थल से सैकड़ों किमी पैदल चलकर प्रवासियों के एक समूह से मिला, जो झांसी, यूपी के थे। कल 9 बजे  मेरे YouTube चैनल पर धैर्य, दृढ़ संकल्प और अस्तित्व की उनकी अविश्वसनीय कहानी देखें।'

इससे पहले शुक्रवार को ही कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी दलों की बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि अगर सरकार की ओर से गरीबों, मजदूरों, किसानों और सूक्ष्म, लघु, एवं मध्यम उपक्रमों (एमएसएमई) की वित्तीय मदद नहीं की गई तो देश में ‘आर्थिक तबाही’ हो जाएगी।


SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER