विधान सभा / राजस्थान विधानसभा बजट सत्र बजरी खनन के मुद्दे पर भाजपा का वॉकआउट, जोशी ने स्थगित की कार्यवाही

Dainik Bhaskar : Jun 28, 2019, 03:41 PM

जयपुर. विधानसभा सत्र के दूसरे दिन शून्यकाल में एनएचएम भर्ती घोटाला और प्रदेश में अवैध बजरी खनन को लेकर विपक्ष से सरकार पर जमकर हमला बोला। एनएचएम घोटाले पर पूर्व चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ ने मोजूदा चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा को बर्खास्त करने की मांग की। वहीं, अवैध बजरी खनन पर उपनेता राजेन्द्र राठौड़ ने सरकार पर बजरी माफिया के साथ गठजोड़ तक के आरोप लगाए। अवैध बजरी खनन पर राठौड़ के आरोपों के बाद सदन में हंगामा हुआ। सरकार की ओर से बजरी के अवैध खनन पर कोई जबाव नहीं देने से विपक्ष ने वॉकआउट कर दिया। इस दौरान शांति धारीवाल विपक्ष का जवाब देने के लिए हंगामा करने लगे। सीपी जोशी ने उन्हे पहले बैठने के लिए कहा। फिर भी हंगामा बढ़ता देख विधानसभा अध्यक्ष ने सदन को आधे घंटे तक स्थगित कर दिया।

बजरी पर सरकार को घेरा राठौड ने लगाए सरकार और बजरी माफिया के बीच गठजोड़ के आरोप

राजेन्द्र राठौड ने सथगन प्रस्ताव के जरिए प्रदेश में बजरी के अवैध खनन को लेकर सरकार को जमकर निशाने पर लिया। उन्होंने सरकार और बजरी माफिया के बीच गठजोड़ होने का आरोप लगाया। राठौड़ ने अखबार में छपे विज्ञापन का हवला दिया। राठौड़ ने कहा कि राजस्थान में अवैध बजरी खनन राजस्थान के अखबारों की सुर्खियों में नया नहीं है। राठौड ने कहा कि सरकार ने पहली बार राज्यपाल का अभिभाषण दिलवाया। 17 जनवरी को राज्यपाल के अभिभाषण में कहलवाया कि अवैध बजरी खनन होता रहा है जिसे हम पूरी तरह से बंद करेंगे। सैंड स्टोन पॉलिसी लाएंगे। अवैध बजरी खनन की रोकथाम का जिक्र जन घोषणा पत्र में भी किया गया। राजस्थान की जनता को वादा किया कि बजरी के अवैध खनन से निजात दिलाएंगे। लेकिन सरकार के कार्यकाल के 190 दिन हो गए है। प्रदेश में अवैध बजरी खनन आतंक का पर्याय बन चुका है। 

14 मई को डीजीपी कहते हैं कि बजरी माफिया आतंक का पर्याय बन गया है। इसे सरकारी तंत्र पनपाता है। राठौड़ ने कहा कि ये क्या हो रहा है। 1 हजार से ज्यादा अपराधी बजरी खनन में लगे हैं। इस गठबंधन के सामने सरकार के लोग नतमस्तक हो गए हैं। एसपी धौलपुर पर बजरी माफिया हमला कर चुका है।

राठौड़ ने जयपुर के वैशाली नगर में बजरी माफिया को रोकने वाले किशोर सिंह का भी हवाला दिया। राठौड़ ने कहा की किशर सिंह का कसूर सिर्फ इतना था कि वह बजरी माफिया के ट्रकों को रोकने की कोशिश कर रहा था। बजरी माफिया ने उसे चेतावनी दी फिर उसे कुचल कर मार डाला। एक नौजवान अजय मीणा शादी के बाद अपनी पत्नी को लेकर लौट रहा था। लेकिन आरटीओ के लोगों को मंथली नहीं मिली और बजरी से भरे ट्रक का पीछा किया गया। ट्रक नहीं रुका और एक नौजवान की कार ट्रक से टकरा गई। उसकी मौत हो गई और दुल्हन का सुहाग उजड़ जाता है। एसडीएम को बजरी का ट्रक टक्कर मार देता है। राठौड़ ने कहा कि प्रदेश में अवैध बजरी सोना उगल रहा है। प्रतिदन 400 ट्रकों के माध्यम से पूरे प्रदेश मेे बजरी आ रही हे।

एनएचएम भर्ती का मुद्दा भी उठाया गया

शून्यकाल में मालवीय नगर विधायक और पूर्व चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ ने स्थगन प्रस्ताव के जरिए एनएचएम भर्ती घोटाला उठाया। सराफ ने कहा कि एनएचएम में कम्यूनिटी हेल्थ ऑफिसर के 2500 पदों की भर्ती निकाली गई। विभाग के मंत्री ने 17 मई को ट्विटर पर 2500 पदों पर भर्ती की जानकारी दी। ट्विटर पर लिखा कि बेरोजगारों के लिए स्वास्थ्य विभाग से बड़ी खबर। ट्विटर को देख प्रदेश के बेरोजगारों में नौकरी की आस जागी लेकिन प्रदेश के बेरोजगारों का दुर्भाय है कि मंत्री ने भर्ती की जानकरी नहीं होने की बात कहकर आनन-फानन में 22 जून को होने वाली परीक्षा को रदद कर दिया। 

विभाग के एसीएस ने एनएचएम के एचआर सैल केा सस्पेंड कर दिया। इस भर्ती के लिए कुल 30 हजार आवेदन आए है। अभ्यार्थियों की नियुक्ति् के लिए पैसे वसूलने तक की जानकारी सामने आई। पूर्व चिकित्सा मंत्री सराफ ने कहा कि मैं पूछना चाहता हूं कि 17 मई को मंत्री स्वंय ट्विटर पर जानकारी दे रहे है कि एनएचएम में 2500 पदों पर भर्ती निकाली गई। फिर क्या कारण रहे कि भर्ती को रदद किया गया।