राजस्थान / पाली में दुष्कर्म के आरोपी ने पीड़ित के पिता की हत्या की, हमले में मां-भाई भी घायल

Dainik Bhaskar : Dec 17, 2019, 08:04 AM
सादड़ी/पाली | पुलिस की लापरवाही का खामियाजा एक दुष्कर्म पीड़िता के पिता को जान देकर चुकाना पड़ा। कोर्ट से जमानत रद्द होने पर भी पुलिस ने दुष्कर्मी को नहीं पकड़ा तो उसने रविवार रात डेढ़ बजे पीड़िता के पिता की घर में घुसकर हत्या कर दी। बचाने आई पीड़िता की मां व भाई को भी चाकू-तलवार से घायल कर दिया। दोनों की हालत गंभीर है।

नासिक में की थी युवती से ज्यादती

आरोपी धन्नाराम पाली जिले के रानी थाना क्षेत्र के किशनपुरा गांव का निवासी है। उसने सादड़ी थाना क्षेत्र के उंदरथल गांव में वारदात को अंजाम दिया। उंदरथल की एक युवती ने 10 नवंबर को केस दर्ज कराया कि धन्नाराम उसे नासिक ले गया और दुष्कर्म किया। धन्नाराम की नासिक में परचून की दुकान है। आरोप है कि पुलिस नासिक गई, लेकिन उसे गिरफ्तार नहीं किया। इस बीच उसने नासिक कोर्ट से अंतरिम जमानत ले ली, लेकिन 13 दिसंबर को पाली की एडीजे कोर्ट ने जमानत खारिज कर दी। इसके बाद भी गिरफ्तारी नहीं हुई तो रविवार को उसने वारदात को अंजाम दिया।

आरोपी ने पीड़ित के परिवार पर तलवार से हमला किया

पोस्टमाॅर्टम रिपोर्ट के मुताबिक युवती के पिता के सीने में चाकू के दो गहरे घाव हैं, वही शरीर पर तलवार से 11 वार हैं। घायल भाई के दोनों हाथों की नस कट गई, अंगुलियां भी कटी हुई है। शरीर पर कुल 5 वार हैं। वहीं मां के सिर, पेट व शरीर पर तलवार के चार वार हैं। पीड़ित ने बताया कि धन्नाराम छत के रास्ते घर में घुसा और सीढ़ियाें का दरवाजा खोलते ही मेरे पिता के सीने में चाकू घोंपे। फिर तलवार से हमला कर दिया। शोर सुन मेरी मां और भाई गए तो तलवार से उन दाेनों पर भी हमला कर दिया। मैंने दरवाजे के पीछे छिपकर जान बचाई। वह जोर-जोर से चिल्ला रहा था कि पूरे परिवार को खत्म कर दूंगा। 

युवती की सुरक्षा बढ़ाई, थाना प्रभारी निलंबित

एसपी आनंद शर्मा ने बताया कि मामले में सादड़ी थानाप्रभारी राजदीपेंद्र की लापरवाही रही। इसी कारण आरोपी गिरफ्तार नहीं किया जा सका। उनको निलंबित कर विभागीय जांच के आदेश दिए हैं। युवती की सुरक्षा के लिए पहरा लगाया गया है।

Booking.com

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER