जैसलमेर / धारा 377 लागू होने के बाद देश का पहला समलैंगिक विवाह, फ्रांसीसी युवती ने रचाई भारतीय युवती से शादी

News18 : Nov 09, 2019, 05:06 PM

जैसलमेर | डेस्टिनेशन वेडिंग (Destination Wedding) हब बने राजस्थान के जैसलमेर (Jaisalmer) में एक समलैंगिक विवाह (Same-Sex Marriage) पिछले चार दिनों से चर्चा का विषय बना हुआ है। एक फ्रांसीसी युवती के साथ दक्षिण भारतीय युवती के इस विवाह समारोह का आयोजन यहां के एक पांच सितारा होटल में हुआ है। पांच दिनों तक चले इस विवाह समारोह के तहत शनिवार को संगीत और मेहंदी की रस्म हुई और रविवार को दोनों का विवाह संपन्न हुआ। सूत्रों के अनुसार, सात फेरे लेने वाली इन दोनों युवतियों के समारोह में शामिल होने के लिए दोनों के परिजनों के साथ देश-विदेश के कई वीआईपी मेहमान भी जैसलमेर पहुंचे। हालांकि, स्थानीय स्तर पर यह विवाह आयोजन पूरी तरह से गोपनीय रखा गया है। सोमवार को इस हाई प्रोफाइल शादी में अन्य रस्मों की अदायगी हुई। 

देश में सितंबर 2018 में समलैंगिक विवाह को मान्यता मिली थी। इस संबंध में धारा 377 लागू होने के बाद संभवत: राजस्थान और देश का पहला समलैंगिक विवाह है।

प्रमुख पर्यटन स्थल जैसलमेर के होटल में इतिहास में इस हाई प्रोफाइल शादी को इतिहास की पहली समलैंगिक शादी बताई जा रही है।

पांच सितारा होटल में हुई इस शादी में 2 नवंबर से 5 नवंबर तक विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। 2 नवंबर से ही मेहमानों को आना शुरू हो चुका था।

आपस में शादी करने वाली युवतियों के बारे में बताया जा रहा है कि दोनों युवतियों के बीच लंबे समय से समलैंगिक संबंध (lesbian relationship) था। 

जानकारी के अनुसार, एक लेस्बियन (Lesbian) युवती फ्रांस (France) और एक दक्षिण भारत (South India) की है। (lesbian is a homosexual woman)

बता दें कि दो महीने पहले ही इसी तरह एक हिंदू-मुस्लिम लेस्बियन कपल ने शादी रचाई है। यह इंडो-पाकिस्तान लेस्बियन कपल में बियानका भारतीय हैं और सायमा पाकिस्तानी।

हिंदू-मुस्लिम लेस्बियन कपल ने कैलिफोर्निया में शादी रचाई है। इन दोनों कपल की शादी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई हैं।