नई दिल्ली / जब गाय के नाम पर लोग मारे जाते हैं तो आपके कान खड़े होने चाहिए: पीएम से ओवैसी

India TV : Sep 11, 2019, 05:14 PM

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गाय को लेकर की गई टिप्पणी पर पलटवार करते हुए एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि गाय हमारे हिंदू भाइयों के लिए एक पवित्र जानवर है लेकिन संविधान में जीवन और समानता का अधिकार मनुष्यों को दिया गया है, मुझे उम्मीद है कि प्रधानमंत्री इसे ध्यान में रखेंगे।

ओवैसी ने पीएम को जवाब देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कान तब खड़े हो जाने चाहिए जब गाय के नाम पर इंसानों को मारा जा रहा है और संविधान की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि गाय हिंदू भाइयों के लिए पवित्र है लेकिन संविधान में जीवन और समानता का अधिकार इंसानों को दिया गया है, मुझे उम्मीद है कि पीएम इसे समझेंगे।

बता दें कि आज मथुरा में पीएम मोदी ने 'ॐ' और 'गाय' के बहाने विपक्ष पर करारा वार किया। उन्‍होंने कहा कि 'ॐ' शब्‍द सुनते ही कुछ लोगों के कान खड़े हो जाते हैं, कुछ लोगों के कान में 'गाय' शब्‍द पड़ता है तो उनके बाल खड़े हो जाते हैं, उनको करंट लग जाता है। उनको लगता है कि देश 16वीं-17 वीं सदी में चला गया है। ऐसे लोगों ने ही देश को बर्बाद कर रखा है।

मोदी ने कहा कि आज आतंकवाद विचारधारा बन गया है, जो हमारे पड़ोस में फल-फूल रहा है। हमने सबक सिखाया है और आगे भी सिखाएंगे। उन्होंने कहा कि समस्या आतंक की हो या पर्यावरण की, मिलकर लड़ना होगा, और आतंकवादियों को पनाह और प्रशिक्षण देने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जरूरत है। प्रधानमंत्री मोदी ने यहां वृहद पशु आरोग्य मेला का शुभारंभ करने के साथ पशुपालन और दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में विभिन्न योजनाओं का भी शुभारंभ किया।

प्रधानमंत्री ने कहा, "आज के ही दिन (11 सितंबर) दुर्भाग्य से अमेरिका में बड़ा आतंकी हमला हुआ था, जिससे दुनिया दहल गई थी। आज आतंकवाद एक विचारधारा बन गया है। यह ग्लोबल समस्या है। जिसकी मजबूत जड़ें हमारे पड़ोस में फल-फूल रही हैं। आतंकवादियों को पनाह और प्रशिक्षण देने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जरूरत है। भारत इस चुनौती से निपटने के लिए पूरी तरह सक्षम है।"