जयपुर / राजस्थान विधानसभा में वित्त विधेयक, राजेन्द्र राठौड़ बोले आपका अडाणी से प्रेम क्यों बढ़ गया?

Zoom News : Jul 30, 2019, 11:58 AM

जयपुर | चूरू के विधायक राजेन्द्र राठौड़ ने सोमवार को राजस्थान विधानसभा में वित्त विधेयक पर बोलते हुए राज्य सरकार को जमकर धोया। उन्होंने सरकार की ओर से लाए गए कानूनी प्रावधानों की विवेचना करते हुए राजस्थान वित्त विधेयक के विभिन्न पहलुओं की खामियों को उजागर करते हुए जनता पर पड़ने वाले आर्थिक भार और सरकार की मंशाओं पर सवाल उठाए। राठौड़ ने कहा कि सीएम ने बजट भाषण में नया कर नहीं लगाने की बात कही और पेट्रोल डीजल पर वेट थोप दिया। आज राजस्थान पूरे उत्तर भारत में सर्वाधिक पेट्रोल डीजल की दर वाला राज्य है। ऐसे में सीमावर्ती जिलों के लोग पड़ोस से तस्करी करके डीजल ला रहे हैं। राठौड़ यहीं नहीं रुके, उन्होंने बिजली की वेरीयेबल कॉस्ट बढ़ने और कोयले पर लगे करों का भी प्रश्न उठाया। उन्होंने अडानी की कंपनी को पैसा शीघ्र चुकाने का सवाल उठाया तो धारीवाल ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए कहा कि आपकी सरकार ने कमजोर पैरवी की, इसलिए ऐसा करना पड़ा। 

तब राठौड़ बोले, आपके विभाग में उच्चतम न्यायालय के सैकड़ों आदेश धूल फांक रहे हैं। आप रिव्यू में जाते और स्टे लेने की कोशिश करते परन्तु लोकसभा चुनाव के बाद आपका अडाणी से प्रेम क्यों बढ़ गया। मैं समझता हूं। राजस्थान की जनता सब जानती है। बिना विनियामक आयोग में गए कानून के निषेध के बावजूद आपने 5 पैसा राजस्थान के 85 लाख उपभोक्ताओं से वसूलने चालू कर दिए। यह अडाणी की आवाज है। इसलिए उसके प्रभाव में आकर आपने यह कर दिया। 

उन्होंने राजस्थान में परिवहन, कृषि, किसानों को लोन, सरकार द्वारा लिए जा रहे लोन, शिक्षा, अपराध समेत अनेक मुद्दे उठाए। राठौड़ के सम्बोधन के दौरान स्वायत्त शासन एवं विधि—संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, परिवहन एवं सैनिक कल्याण मंत्री प्रतापसिंह खा​चरियावास समेत नेताओं के साथ उनकी नोक—झोंक भी चली। 

SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER