एजुकेशन / 10वीं के छात्रों के लिए है अच्छा मौका, ग्रैजुएशन तक हर महीने मिलेगी स्कॉलरशिप

NavBharat Times : Oct 13, 2019, 02:00 AM

एजुकेशन डेस्क | एनसीईआरटी 10वीं क्लास के छात्रों के लिए नैशनल टैलंट सर्च एग्जाम का आयोजन करता है। इसके लिए आवेदन का समय अभी है। इस परीक्षा के माध्यम से प्रतिभाशाली छात्रों का चयन किया जाता है और चयनित छात्रों को उनकी शिक्षा के विभिन्न स्तरों पर वित्तीय सहायता मुहैया कराई जाती है। परीक्षा का आयोजन राज्य और राष्ट्रीय, दो स्तरों पर होता है। यह स्कॉलरशिप नैशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च ऐंड ट्रेनिंग (एनसीईआरटी) देता है।

कौन कर सकता है आवेदन?

मान्यता प्राप्त स्कूलों में 10वीं क्लास में पढ़ने वाले सभी छात्र इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। पहले चरण की परीक्षा को पास करने वाले छात्र ही दूसरे चरण की परीक्षा दे पाएंगे। 18 साल से कम आयु के ओपन के छात्र भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

क्या मिलेगा?

इसमें शिक्षा के हर स्तर पर एक निश्चित राशि स्कॉलरशिप के तौर पर हर महीने मिलती है। 11वीं और 12वीं क्लास में छात्रों को हर महीने 1,250 रुपये मिलता है। अंडरग्रैजुएट और पोस्ट ग्रैजुएट के लिए 2,000 रुपये हर महीने मिलता है। पीएचडी के दौरान यूजीसी के नियमों के मुताबिक स्कॉलरशिप मिलती है।

कैसे कर सकते हैं आवेदन?

राज्य या केंद्रशासित प्रदेश द्वारा जारी राज्य स्तरीय नोटिफिकेशन को देखें2. संबंधित राज्य के संपर्क अधिकारी से संपर्क करें और ऐप्लिकेशन फॉर्म लें 3. ऐप्लिकेशन फॉर्म को भरकर स्कूल के प्रिंसिपल से साइन करा लें4. राज्य का संपर्क अधिकारी जो पता प्रदान करे उस पर एग्जाम फीस के साथ भरे हुए ऐप्लिकेशन फॉर्म को जमा करें। 5. राज्य के हिसाब से संपर्क अधिकारी के कॉन्टैक्ट डीटेल्स के लिए यहां क्लिक करें

अहम तारीख

मिजोरम, मेघालय, नगालैंड और अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूहों के कैंडिडेट 2 नवंबर, 2019 तक आवेदन कर सकते हैं। पश्चिम बंगाल को छोड़कर अन्य सभी राज्य और केंद्रशासित प्रदेश के कैंडिडेट्स 3 नवंबर, 2019 तक आवेदन कर सकते हैं। पश्चिम बंगाल के कैंडिडेट 17 नवंबर, 2019 तक आवेदन कर सकते हैं। दूसरे चरण की परीक्षा के लिए सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश के कैंडिडेट 20 मई, 2020 तक आवेदन कर सकते हैं।

परीक्षा का विवरण

परीक्षा में 100 नंबर के 100 सवाल पूछे जाएंगे। परीक्षा 120 मिनट की होगी। दूसरे चरण की परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी।