बीकानेर / बीकानेर हादसा | बड़ी बहन की शादी के लिए शॉपिंग कर लौट रही थी छोटी बहनें, बीच रास्ते में ही हुई दर्दनाक मौत

Dainik Bhaskar : Nov 18, 2019, 04:51 PM

बीकानेर | बीकानेर में सोमवार को हुए भीषण सड़क हादसे में एक परिवार की खुशियां बिखर गईं। बीकानेर से जयपुर जाने वाली निजी बस की झंझेऊ-जोधासर के पास एक ट्रेलर से भिड़ंत हो गई जिसमें चूरू जिले के राजलदेसर वार्ड 14 की रहने वाली दो सगी बहनों व उनके चचेरे (बुआ के बेटे) भाई की मौत हो गई। इन बहन-भाई की बड़ी बहन की दो दिन बाद ही शादी होने वाली थी। ये सात बहनें हैं जिनमें दो की मौत हो गई। एक चचेरी बहन सहित तीन बहनें अपने चाचा धर्मेंद्र के साथ शादी की खरीदारी करने बीकानेर गईं थीं।

घर लौटते समय यह हादसा हो गया। हादसे में 24 वर्षीय निवेदिता व 19 वर्षीय काजल पुत्री बंशीधर दाधीच व चचेरे भाई (बुआ के बेटे) 25 वर्षीय ललित पुत्र शिवप्रसाद मिश्रा की मौत हो गई। हादसे में तीसरी बहन 21 वर्षीय अंजली सहित 43 वर्षीय चाचा धर्मेंद्र दाधीच पुत्र लालचंद, 16 वर्षीय प्रेक्षा पुत्री देवकीनंदन दाधीच तथा 55 वर्षीय बुआ मंजूदेवी पत्नी शिवप्रसाद मिश्रा घायल हुए।

हादसे में 11 की मौत हो गई तथा 15 यात्री घायल हो गए। हादसा कोहरे के कारण हुआ। दोनों वाहनों में जोरदार भिड़ंत के बाद आग लग गई। ग्रामीणों ने फुर्ती दिखाते हुए टयूबवेल से पानी लाकर आग पर काबू पाया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर हादसे पर दुख जताया।

मरने वालों में बस चालक भी

मृतकों में बस चालक सीकर के फतेहपुर निवासी ओम सिंह भी है। अन्य मृतकों में रायसर नापासर निवासी भेरू सिंह, पुलिस लाइन बीकानेर निवासी अरूण कुमार, राजलदेसर निवासी नवरेखा और काजल, बागड़ी मोहल्ला बीकानेर निवासी ललित कुमार, माया कंवर, अनिता तथा अलवर के थाना गाजी निवासी राजू मीणा शामिल है।

जलदाय मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला ने इस हादसे की सूचना मिलते ही बीकानेर के जिला कलक्टर से बात कर घटना की पूरी जानकारी ली और उनको घायलों के मुफ्त इलाज सहित प्रभावी सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए। कल्ला ने मुख्यमंत्री कार्यालय में भी इस घटना की जानकारी देकर इस दर्दनाक हादसे के प्रभावितों को यथोचित सहायता देने का आग्रह किया।