इंडिया / न्यूयॉर्क में पीएम मोदी से पहले पाक पीएम इमरान खान से मुलाकात करेंगे डोनाल्‍ड ट्रंप

News18 : Sep 21, 2019, 01:48 PM

वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के साथ औपचारिक बैठक से पहले पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) से मुलाकात करेंगे. डोनाल्‍ड ट्रंप और इमरान खान के बीच सोमवार को औपचारिक रूप से मुलाकात होगी. इसके बाद ट्रंप और मोदी के बीच संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) से इतर न्यूयॉर्क में बैठक होगी. हालांकि रविवार को डोनाल्‍ड ट्रंप पीएम मोदी के ह्यूस्‍टन में होने वाले हाउडी मोदी (Howdy Modi) कार्यक्रम में हिस्‍सा लेंगे. लेकिन औपचारिक रूप से मुलाकातों का सिलसिला सोमवार और मंगलवार को होगा.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की 23 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) से इतर न्यूयॉर्क में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात होगी. पाकिस्तान के दैनिक अखबार ‘डॉन’ने सूत्रों के हवाले से कहा कि यूएनजीए सत्र के दौरान खान और ट्रंप की दो मुलाकात होनी हैं, यह उन्हीं में से पहली हो सकती है.

हाउडी मोदी कार्यक्रम में 50 हजार लोग आएंगे

ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ह्यूस्टन में ‘हाउडी मोदी’ नाम के एक बड़े कार्यक्रम में 50,000 से अधिक भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित करेंगे, इसी के एक दिन बाद खान और ट्रंप के बीच मुलाकात होगी. खान के रविवार को न्यूयॉर्क पहुंचने की उम्मीद है, उसी दिन ट्रंप और मोदी एक संयुक्त रैली को संबोधित करेंगे.

मोदी और इमरान 27 सितंबर को संयुक्‍त राष्‍ट्र को संबोधित करेंगे

मोदी और इमरान खान दोनों ही 27 सितंबर को संरा महासभा को संबोधित करेंगे. खान ने कहा है कि यूएनजीए सत्र में वह कश्मीर मुद्दा उठाएंगे. इस्लामाबाद में विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तान ने कश्मीर के हालात पर ध्यान केंद्रित रखने के लिए लगातार कई कदम उठाए हैं.

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने एक वक्तव्य में कहा कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की कार्रवाई ‘कश्मीर में जमीनी हालात को अर्थपूर्ण रूप से प्रभावित करे’, इसके लिए पाकिस्तान हरसंभव विकल्पों को आजमाएगा.

इधर, भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले ने नई दिल्ली में गुरुवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हफ्ते भर लंबा दौरा आतंकवाद के मुद्दे पर केंद्रित न होकर, भारत की उपलब्धियों और उसकी वैश्विक भूमिका को सामने लाने पर केंद्रित होगा.