मलंग

Feb 07, 2020
कॅटगरी क्राइम थ्रिलर
निर्देशक मोहित सूरी
कलाकार अनिल कपूर,आदित्य रॉय कपूर,दिशा पटानी
रेटिंग 3.5/5
निर्माता भूषण कुमार,कृष्ण कुमार,लव रंजन,अंकुर गर्ग
संगीतकार अंकित तिवारी,आसिम अजहर
प्रोडक्शन कंपनी टी-सीरीज़

Malang Movie Review: दिशा पटानी (Disha Patani), आदित्य रॉय कपूर (Aditya Roy Kapoor), अनिल कपूर (Anil Kapoor) और कुणाल खेमू (Kunal Khemu) की फिल्म 'मलंग' में सस्पेंस, रोमांस, थ्रिलर और एक्शन जैसे ढेर सारे मसालों को मिलाकर एक रेसिपी बनाई गई, लेकिन फिर भी यह रेसिपी मजा नहीं दे पाती है क्योंकि इसमें मसालों की क्वालिटी और क्वांटिटी पर बिल्कुल भी फोकस नहीं किया गया है। इस तरह 'मलंग (Malang Review)' में नशा और मजा की बात करने वाली स्टारकास्ट सिर्फ एक एवरेज फिल्म दे पाती है। फिल्म का डायरेक्शन कहानी और ट्रीटमेंट तीनों ही कमजोर हैं और कुल मिलाकर फिल्म सिर्फ बड़ी स्टारकास्ट और बड़े डायरेक्टर के नाम के सहारे ही रह जाती है।

'मलंग (Malang)' की कहानी आदित्य रॉय कपूर (Aditya Roy Kapoor) और दिशा पटानी (Disha Patani) की है। दोनों खूबसूरत हैं, जवान हैं और जिंदगी को जीना चाहते हैं। दिशा और आदित्य की मुलाकात गोवा में होती है। दोनों साथ जिंदगी जीना शुरू करते हैं और अपने हर डर तथा शौक को पूरा करते हैं। लेकिन फिर कुछ ऐसा होता है कि जन्नत में आग लग जाती है। रोमांटिक आदित्य रॉय कपूर एकदम बदल चुका है और अब एक रात है, कत्ल है। फिर एंट्री होती है अनिल कपूर और कुणाल खेमू को जिन्हें हालात पर काबू पाना है। लेकिन फिल्म का पहला पार्ट जहां कैरेक्टर्स को इस्टैब्लिश करने में काफी खिंच जाता है, वहीं दूसरे पार्ट में चीजों को समझाने की कोशिश की जाती है लेकिन फिर भी सवाल अनसुलझे ही रह जाते हैं। डायरेक्शन की बात करें तो मोहित सूरी यहां निराश करते हैं। वह इससे पहले 'एक विलेन' जैसी थ्रिलर दे चुके हैं, ऐसे में यह उनकी कमजोर फिल्म है। 

'मलंग (Malang)' में अगर एक्टिंग की बात करें तो आदित्य रॉय कपूर ने अपनी शानदार फिजीक दिखाई है और कई सीन में उन्होंने अच्छी एक्टिंग भी की है। आदित्य रॉय कपूर ने एक्टिंग के मामले में लंबी छलांग लगाई है। दिशा पटानी की बात करें तो उनकी डायलॉग डिलीवरी काफी कमजोर है, बहुत ही फ्लैट है। जबकि एक्टिंग में भी इम्प्रेसिव नहीं हैं। लेकिन अनिल कपूर ने एक बार फिर दिखा दिया है, वह एक्टिंग के बेताज बादशाह हैं और उन्हें फैन्स का दिल जीतना आता है। कुणाल खेमू ने अच्छा काम किया है। 

मोहित सूरी अपनी लीड जोड़ी में जबरदस्त कैमेस्ट्री दिखाने के लिए पहचाने जाते हैं। लेकिन 'मलंग' में आदित्य और दिशा की कैमेस्ट्री बहुत ही फीकी है। डायरेक्शन भी कमजोर है। लेकिन फिल्म का म्यूजिक और लोकेशंस शानदार हैं। मोहित सूरी की 'मलंग', में न तो नशा है और न ही मजा है। 


SUBSCRIBE TO OUR NEWSLETTER